दिग्गज गीतकार-पटकथा लेखक जावेद अख्तर का कहना है कि दिग्गज उर्दू कवि मिर्जा गालिब का काम केवल भारत में ही अर्थ पा सकता है. अख्तर ने कहा, “गालिब केवल भारत में ही संभव थे. अगर उनका काम इस देश के लिए नहीं होता तो न तो उसका विकास हो पाता और न ही वह संरक्षित रह पाता. उनके काम में उनकी भाषा और गहराई का अर्थ केवल भारत में ही हो सकता है.”

भारती सिंह ने इस इमोशल पोस्ट से किया अपने पति हर्ष लिंबाचिया को बर्थडे विश, ये प्यार यूं ही बना रहे

उन्होंने कहा, “संतुलित धर्म में क्या हुआ है कि वे मानते हैं कि एक सर्वोच्च शक्ति है, जो हमारी रचियता है और हम उनकी रचना है लेकिन वेदांत में रचियता और रचना अलग-अलग नहीं है. हम सभी एक हैं, हम सर्वोच्च होने का एक हिस्सा है.”

यहां नागपाड़ा जंक्शन में गालिब के भित्ति-चित्र के उद्धघाटन पर मीडिया से बात करते हुए अख्तर ने मंगलवार को गालिब पर अपने विचार व्यक्त किए.

अख्तर ने यह भी कहा कि गालिब में भावनाओं की समझ का एक उच्च स्तर था.

उन्होंने कहा, “फिलोसॉफी के बारे में सबसे अद्भुत चीज है कि यह कभी पुरानी नहीं होती. अन्य कवियों की तुलना में उन्होंने बहुत कम कविताएं लिखी लेकिन फर्क नहीं पड़ता कि आपकी जिंदगी में क्या हालात हैं लेकिन आप उनकी लिखी कविताओं को खुद से जुड़ा हुआ पाएंगे. उनके पास भावनाओं और उनकी समझ की एक ऐसी ही श्रृंखला थी.”

बता दें, ग़ालिब का जन्‍म 27 दिसंबर 1797 को आगरा में हुआ था. उर्दू अदब मिर्ज़ा ग़ालिब का शायराना अंदाज आज भी रगों में दौड़ता है. रंगमच से लेकर टेलिविजन तक ग़ालिब के हर एहसास को बखूबी दिखाया गया है. ग़ालिब की शायरी की सबसे ख़ूबसूरत बात ये है कि वो किसी एक रंग या किसी एक एहसास से बंधे नहीं, हर मौज़ू पर उनका शेर मौजूद है. हिंदी सिनेमा में मिर्जा ग़ालिब के नाम से पहली फिल्म बनी थी.

भारत भूषण ने ग़ालिब का किरदार निभाया था. हिंदुस्तान ही नहीं बल्कि पाकिस्तान में भी ग़ालिब पर फिल्म बनाकर उन्हें इज्जत बख्शी गई थी. गुलजार ने भी मिर्जा ग़ालिब पर सन् 1988 में एक सीरियल बनाया था. जिसे काफी पसंद किया गया. नसीरुद्दीन शाह ने इसमें ग़ालिब का रोल किया था. इस अंदाज में वे खूब जमे थे. एक वक्त था जब नसीर को देखते ही लोग ग़ालिब पुकारने लगते थे. सुरेंद्र वर्मा का लिखा प्ले कैद-ए-हयात. ये प्ले मिर्जा ग़ालिब की निजी जिंदगी पर आधारित था. इसे नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा ने परफॉर्म किया था.

बॉलीवुड और मनोरंजन जगत की ताजा ख़बरें जानने के लिए जुड़े रहें  India.com के साथ.