नई दिल्ली: ‘जश्न-ए-बहारां’, ‘अर्जियां’, ‘कुन फाया कुन’ और ‘तू ही हकीकत’ जैसे मधुर गीतों के गायक जावेद अली काफी लोकप्रिय हैं. अब उन्‍होंने कहा है कि संगीत हर रूप में अच्छा है, लेकिन मधुर संगीत हमेशा सदाबहार होता है. Also Read - अपनी आवाज के लिए इस एक्ट्रेस को परफेक्ट मानती हैं तुलसी कुमार, तारीफ में कही ये बात

अली शनिवार को सिरीफोर्ट ऑडिटोरियम में गुंजन फाउंडेशन के साथ एक संगीत संध्या ‘दस्तक-ए-दिल’ में भाग लेने आए थे. ये कार्यक्रम वंचित छात्रों को समर्पित था. Also Read - दिग्गज हॉकी खिलाड़ी बलबीर सिंह के निधन से दुखी हैं बॉलीवुड अभिनेता अक्षय कुमार

इस मौके पर देश में मौजूदा संगीत परिदृश्य पर अली ने आईएएनएस से कहा, ‘नई प्रतिभाओं को देखकर खुशी होती है. उन्हें अपनी प्रतिभा दिखाने के लिए मंच मिल रहा है. बीते दस सालों में हम देख सकते हैं कि संगीत में अच्छा बदलाव आया है’. अली का मानना है कि संगीत बेहतर हो रहा है. Also Read - मशहूर सिनेमेटोग्राफर नदीम खान की ब्रेन सर्जरी के बाद हालत गंभीर, पत्नी पार्वती ने कही ये बात

उन्होंने कहा, ‘मधुर संगीत अधिक आ रहा है और श्रोता इसकी प्रशंसा कर रहे हैं. मैं एक अलग शैली में गाना चाहूंगा क्योंकि श्रोता अलग व नए तरह का संगीत पसंद करते हैं.संगीत हर रूप में अच्छा है, लेकिन मधुर संगीत हमेशा जीवंत रहेगा’.

(आईएएनएस इनपुट्स)