बॉलीवुड अभिनेता अनिल कपूर ने जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) के छात्रों पर हमले की निंदा करते हुए कहा कि इस घटना के दोषियों को सजा मिलनी चाहिए. उन्होंने कहा कि रविवार रात छात्रों के साथ जो कुछ भी हुआ उसे देखकर वह वास्तव में बहुत दुखी और हैरान हैं. कपूर ने अपनी नई फिल्म ‘मलंग’ के ट्रेलर लॉन्च के दौरान यह बात कही, जहां उनके साथ सह-कलाकार आदित्य रॉय कपूर, दिशा पाटनी और एली अवराम भी मौजूद थे. इसके अलावा फिल्म के निर्देशक मोहित सूरी और निमार्ता उदय रंजन, भूषण कुमार, अंकुर गर्ग और जय शेवाकरमानी भी मौजूद थे. ‘मलंग’ 7 फरवरी को रिलीज होगी.

Bipasha Birthday: जॉन अब्राहम की बीवी बनने को तैयार थीं बिपाशा, फैमिली कहती थी लेडी गुंडा, एक गलती से टूट गया रिश्ता

अनिल ने कहा, “मेरा मानना है कि इसकी निंदा करनी चाहिए. मैंने जो कुछ देखा, वह काफी दुखद और चौंकाने वाला है. यह बहुत परेशान करने वाला है. मैं इसके बारे में सोचकर पूरी रात नहीं सोया. मुझे लगता है कि हिंसा से आपको कुछ नहीं मिलेगा और जिसने भी यह किया है उसे सजा मिलनी चाहिए.”

JNU Attack: बॉलीवुड का एक बड़ा तबका भी रहा विरोध प्रदर्शन का हिस्सा, देखें तस्वीरें 

शबाना आजमी, स्वरा भास्कर, अनुराग कश्यप, अनुभव सिन्हा, तापसी पन्नू, ट्विंकल खन्ना, आयुष्मान खुराना, रितेश देशमुख, दिया मिर्जा, विशाल ददलानी, और मोहम्मद जीशान अयूब सहित कई बॉलीवुड हस्तियों ने भी हमले पर निराशा जताई है.

बता दें कि नकाबपोशों द्वारा किए गए हमले में घायल हुए 34 लोगों में जेएनयू छात्र संघ की अध्यक्ष आइशी घोष भी शामिल हैं जिन्हें सिर में गंभीर चोट लगी थी. वहीं पुलिस ने जिस मामले में रिपोर्ट दर्ज की है वह हिंसा से पहले 4 जनवरी का है.

दरअसल जेएनयू में फीस बढ़ोत्तरी को लेकर विरोध कर रहे छात्रों ने परीक्षा का भी बहिष्कार किया था, इसके बाद प्रशासन की ओर से दाखिला प्रक्रिया शुरू की गई. जेएनयू छात्रसंघ लगातार इसका भी विरोध कर रहा था. बता दें कि ये दाखिला प्रक्रिया जेएनयू के सर्वर रूम से की जाती है. आरोप है कि शनिवार को जेएनयू छात्र संघ ने सर्वर रूम को लॉक कर दिया था.

जेएनयू प्रशासन ने शनिवार को बयान जारी करके कहा था कि कुछ छात्रों ने मास्क पहनकर सर्वर रूम पर कब्जा कर लिया था और तकनीकी स्टाफ को बंधक बना लिया था. इसी मामले में आइशी घोष के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है.