सीनियर कॉमेडी एक्टर कादर खान लंबे समय से अपने बेटे और बहू के साथ कनाडा में हैं. लंबे समय से वे बीमार चल रहे हैं. जिसके बाद से सोशल मीडिया पर उनके निधन की अफवाहें खूब जोरों से उड़ी थी , ऑल इंडिया रेडियो के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से भी उनकी मौत की खबर की पुष्टि की गई थी जिसके बाद से कई मीडिया पोर्टल्स ने भी ये खबर चला दी थी. लेकिन आपको बता दें, इस खबर में बिल्कुल भी सच्चाई नहीं है. उनके बेटे सरफराज खान ने स्पॉटबॉय को इस बात की जानकारी दी है. Also Read - 'ब्लैक पैंथर' के हीरो चैडविक बॉसमैन के आखिरी पोस्ट ने बनाया रिकॉर्ड, ट्विटर पर मिले सबसे अधिक लाइक

Image result for kader khan movies
सरफराज ने कहा, ये सारी खबरें फर्जी हैं. इनमें बिल्कुल भी सच्चाई नहीं है. उन्हें सांस लेने में तकलीफ है. कादर खान अस्पताल में भर्ती हैं. सरफराज के अनुसार डॉक्टरों की एक टीम लगातार उनकी हेल्थ पर नजर रखे है लेकिन उन्हें सांस लेने की दिक्कत के बाद बाइपेप वेंटिलेटर पर रखा गया है. बता दें, कादर खान की पिछली साल घुटनों की भी सर्जरी हुई थी जिसके बाद से उनकी हेल्थ में लगातार गिरावट देखने को मिली है. Also Read - तमिलनाडु में स्कूली छात्रा को जिंदा जलाया, स्टालिन ने की कड़ी सजा की मांग

क्या है पीएसपी : प्रोग्रेसिव सुप्रान्यूक्लीयर पाल्सी (पीएसपी) एक असामान्य मस्तिष्क विकार है जिससे शरीर की मूवमेंट , संतुलन, बोलने, निगलने, मनोदशा और व्यवहार के साथ सोच को भी प्रभावित करता है. डिसऑर्डर मस्तिष्क में नर्व सेल्स के नष्ट होने के कारण होता है. Also Read - रामायण के 'सुग्रीव' श्याम सुंदर का निधन, अरुण गोविल ने ट्वीट कर जताया शोक

बता दें, 1973 में अपने फिल्मी करियर की शुरुआत करने के बाद से, कादर खान 300 से अधिक फिल्मों में काम कर चुके है. उनकी पहचान अभिनेता और लेखक के रूप में है. अमिताभ की कई सफल फिल्मों के अलावा, कादर खान ने हिम्मतवाला, कुली नं वन, मैं खिलाडी तू अनाड़ी, खून भरी मांग, कर्मा, सरफरोश और धर्मवीर जैसी सुपर हिट फिल्मों के संवाद लिखे हैं. 2013 में, कादर खान को उनके फिल्मों में योगदान के लिए साहित्य शिरोमनी अवार्ड से नवाजा गया था.

बॉलीवुड और मनोरंजन जगत की ताजा ख़बरें जानने के लिए जुड़े रहें  India.com के साथ.