तबला वादक उस्ताद जाकिर हुसैन, गायक-संगीतकार शंकर महादेवन, गीतकार जावेद अख्तर, अभिनेत्री शबाना आजमी और फिल्म निर्माता फिरोज अब्बास खान प्रसिद्ध कवि और कार्यकर्ता कैफी आजमी के शताब्दी समारोह की शुरुआत में ‘राग शायरी’ नामक एक विशेष कार्यक्रम के लिए साथ आए हैं. कैफी आजमी की जन्मशती 14 जनवरी, 2019 को होगी. Also Read - बॉलीवुड अभिनेता और सांसद अयोध्या की रामलीला में निभाएंगे किरदार, टीवी पर होगा लाइव प्रसारण

‘राग शायरी’ संगीत की एक विशेष शाम होगी. इसका निर्देशन फिरोज अब्बास खान करेंगे, जबकि प्रोडक्शन डिजाइन में उनका साथ देंगी अनुराधा पारीख. इसमें तीन कार्यक्रम होंगे, जिसमें से दो मुंबई और एक कोलकाता में होगा. खान ने एक बयान में कहा, “विभिन्न तरीकों में व्याख्या की गई कैफी आजमी की महानता को यह एक श्रद्धांजलि है, जिससे पूरी प्रस्तुति के माध्यम पेश किया जाएगा. Also Read - अयोध्या: फिल्मी सितारों और राजनेताओं से सजेगी रामलीला, जानें कौन बनेंगे राम और रावण

उन्होंने कहा, ”संगीत, कविता और गानों के साथ हम कैफी साहब की कविताओं की कालातीत गुणवत्ता और सार्वभौमिकता को शेयर करने का प्रयास कर रहे हैं.” कैफी आजमी उपमहाद्वीप के एक सबसे प्रसिद्ध उर्दू शायर थे. उनका जन्म उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ स्थित मिजवान में हुआ था. बतौर शायर उन्होंने ‘औरत’ और ‘मकान’ सहित कई प्रभावशाली कविताएं लिखीं. Also Read - Ramlila 2020: इस बार खास होगी अयोध्या की रामलीला, मंचन करेंगे BJP सांसद-फिल्मी सितारे

इसके बाद खान ने कहा, ”उन्होंने ‘कागज के फूल’, ‘शोला और शबनम’, ‘हंसते जख्म’, ‘हकीकत’, ‘अर्थ’ जैसी फिल्मों के लिए कई प्रसिद्ध गाने लिखे. वह ‘हीर’ और एम.एस. सथ्यू की सफल फिल्म ‘गर्म हवा’ के लिए संवाद और सर्वश्रेष्ठ पटकथा लिखने के लिए भी जाने जाते हैं.