नई दिल्ली: बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत (Kangana Ranaut) और शिवसेना नेता संजय राउत के बीच हुई जुबानी जंग के बाद कांग्रेस ने सोमवार को कहा कि पार्टी, अभिनेत्री के किसी बात से असहमत होने के अधिकार का सम्मान करती है, लेकिन इसने उनके मुंबई-पीओके टिप्पणी की आलोचना की. कांग्रेस महाराष्ट्र में शिवसेना और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के साथ महा विकास अघाड़ी सरकार में सहयोगी है. Also Read - भगत सिंह की याद में कंगना ने किया ये ट्वीट, लता मंगेशकर को भी दी जन्मदिन की बधाई

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, “मोदी जी और भाजपा के विपरीत, मैं अपने सबसे बड़ी आलोचक के अधिकार का बचाव करूंगा, जो कि कांग्रेस और महाराष्ट्र में गठबंधन सहयोगियों, शिवसेना और राकांपा का सिद्धांत है.” कांग्रेस नेता ने मुंबई की तुलना पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) से करने के लिए कंगना की आलोचना की और कहा कि यह ‘राजनीति से प्रेरित’ है. Also Read - संजय राउत ने पूर्व CM फडणवीस से मुलाकात की बताई वजह, कहा- 'हमारे बीच वैचारिक मतभेद हो सकते हैं लेकिन...'

सुरजेवाला ने कहा, “एक खास फिल्म अभिनेत्री के मोदी जी और भाजपा के एजेंडे पर चलने के बावजूद उन्हें पर्याप्त सुरक्षा दी जाएगी.” लेकिन, कांग्रेस नेता ने कहा कि भारत की आर्थिक राजधानी को पीओके कहना “बचकाना, गलत और राजनीतिक रूप से अवसरवादी और निंदनीय है.” पार्टी ने कहा कि उसने इस तरह के आरोपों और राजनीति से प्रेरित बयानों को खारिज कर दिया है. Also Read - संजय राउत का बयान- शिवसेना और अकाली दल से था NDA, हम मजबूरी में हटे और अब...

कांग्रेस ने कोरोनोवायरस संकट, देश में बेरोजगारी और बिहार और अन्य स्थानों पर बाढ़ जैसी खबरों को तरजीह नहीं देने पर मीडिया की भी आलोचना की.

इनपुट- एजेंसी