अभिनेत्री कंगना रनौत (Kangana Ranaut) का कहना है कि वह अपने बच्चों और करीबी लोगों के लिए संघर्ष भरी वैसी जिंदगी कभी नहीं चाहेंगी जैसी उनकी रही है.‘‘मणिकर्णिका : द क्वीन ऑफ झांसी’’ में लक्ष्मीबाई की भूमिका निभाने वाली कंगना ने सोमवार को कहा कि यह फिल्म उनके लिए आसान नहीं थी.उन्होंने कहा ‘‘रानी लक्ष्मीबाई को हर कदम पर जूझना पड़ा. मैं अपने किसी भी करीबी व्यक्ति के लिए यह नहीं चाहूंगी. मैं यह भी नहीं चाहूंगी कि मेरे बच्चों की जिंदगी मेरी तरह हो. मैं भी नहीं जानती कि मुझे जीवन में संघर्ष किए बिना कुछ भी क्यों हासिल नहीं होता.’’ Also Read - हिमालय के गोद में बसा है कंगना रनौत की बहन रंगोली चंदेल का घर, देखिए लग्जरियस हाउस की इनसाइड तस्वीरें 

Also Read - डिजिटल प्लेटफॉर्म पर रिलीज होगी कंगना रनौत की अपकमिंग फिल्म 'थलाइवी', करोड़ों में बिके फिल्म के राइट्स

Also Read - ऋतिक रोशन ने उठाया पर्दा, 'कोई मिल गया' में जादू के एक्स्ट्रा अंगूठे की बताई कहानी 

कंगना ने कहा ‘‘मुझे संघर्ष के बिना कुछ नहीं मिलता. यह कहने में न तो मुझे कोई गर्व है और ना ही झिझक है. ’’ उन्होंने कहा ‘‘हर फिल्म की अपनी यात्रा होती है और यही बात ‘मणिकर्णिका’ के साथ रही. यह सच है कि शुरूआत में कुछ दिक्कतें आईं लेकिन हमने हार नहीं मानी. आखिरकार यह फिल्म पूरी हो ही गई.’’

Kangana Ranaut, Picture Courtes- Yogen Shah

Kangana Ranaut, Picture Courtes- Yogen Shah

बता दें कि, ‘मणिकर्णिका: द क्वीन ऑफ झांसी’ अगले साल 25 जनवरी को रिलीज की जाएगी. यह फिल्म भी पिछले दिनों काफी विवादों में आई, जिसमें एक विवाद ये भी था कि ये मूवी रितिक रोशन की फिल्म ‘सुपर-30’ की रिलीज डेट एक ही थी.

(इनपुट भाषा)

बॉलीवुड और मनोरंजन जगत की ताजा ख़बरें जानने के लिए जुड़े रहें  India.com के साथ.