Kangana Ranaut Statement: बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत (Kangana Ranaut) ने धर्मांतरण कानून (Conversion law) का समर्थन किया है. इसे लव जिहाद कानून भी कहा जा रहा है. मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) सहित कई बीजेपी (BJP) शासित राज्यों में ये कानून पारित किया गया है. कंगना ने इस कानून का समर्थन करते हुए कहा कि इससे धोखाधड़ी से हुई शादियों (Inter Religion Marriage) की पीड़ितों को मदद मिलेगी. इसके साथ ही कंगना ने सामूहिक बलात्कार जैसे अपराधों पर अंकुश लगाने के लिए सऊदी अरब जैसे देशों में दी जाने वाली सार्वजनिक फांसी का समर्थन किया. कंगना बीते दिन मध्य प्रदेश में शूटिंग के सिलसिले में आईं हुई थीं.Also Read - देश की राजधानी दिल्ली में 15 से 19 साल की लड़कियां क्यों हो रहीं प्रेग्नेंट, वजह जानकर चौंक जाएंगे आप

मध्य प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने प्रदेश सरकार के एक अध्यादेश को मंजूरी दी, जिसमें धोखाधड़ी के माध्यम से धर्मांतरण कराने पर दंड का प्रावधान किया गया है. इसमें शादी के लिये धोखाधड़ी से धर्मांतरण कराने वाले को दस साल की कैद का दंड दिया जायेगा. कंगना रनौत (Kangana Ranaut) ने कहा कि यह एक बहुत अच्छा कानून (Love Jihad Law) है. कई लोगों को समस्याओं का सामना करना पड़ा है. ऐसे लोगों लिए यह कानून बनाया गया है. एक फिल्म की शूटिंग के लिये यहां आई कंगना रनौत ने एक सवाल के जवाब में कहा कि सरकार (Madhya Pradesh Government) ने आखिरकार यह बहुत अच्छा कदम उठाया है. Also Read - Kangana Ranaut को प्यार में मिला धोखा? एक्ट्रेस के इमोशनल पोस्ट को देखकर फैन्स हुए परेशान, टूटे दिल के साथ...

देश में बलात्कार (Rape) के बढ़ते मामलों के बारे में पूछे जाने पर अभिनेत्री ने कहा कि ऐसे मामलों की सुनवाई लंबे समय तक चलती है और पीड़ितों को इस प्रक्रिया में परेशान होना पड़ता है. ऐसे में आरोपियों के खिलाफ आरोप साबित करने का बोझ भी पीड़िता पर होता है. Also Read - Madhya Pradesh: रेप के बाद मां बनी 15 साल की लड़की, गुस्से में घोंटा बच्चे का गला, ऐसे चला पता

उन्होंने कहा कि इस लंबी कानूनी प्रक्रिया में आधे से अधिक आरोपी बरी हो जाते हैं. रनौत ने सऊदी (Saudi Arab) जैसे कई देशों का उदाहरण देते हुए कहा, वहां दोषी को सार्वजनिक चौराहों पर फांसी पर लटका दिया जाता है. हमारे यहां भी हम जब तक पांच-छह ऐसे उदाहरण नहीं कर देते तब तक ऐसे अपराध (Crime in India) बंद नहीं होंगे क्योंकि यहां लोग अपराध कर आसानी से निकल जाते हैं.