प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारतीय फिल्म इंडस्ट्री देश की संस्कृति को दुनियाभर में सामने ला रही है. मोदी ने शनिवार को मुंबई में भारतीय सिनेमा के राष्ट्रीय संग्रहालय (एनएमआईसी) का उद्घाटन किया. निर्देशक-अभिनेता कुणाल कोहली ने पोस्ट किया, “हमारे सम्मानीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलने का सौभाग्य मिला.” इसके जवाब में मोदी ने कहा, “मुझे आपसे और फिल्म इंडस्ट्री के अन्य सदस्यों के साथ बातचीत करने में मजा आया. यह समुदाय अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भारत की संस्कृति को दर्शाने में आगे रहा है.”

कॉमेडियन और निर्माता कपिल शर्मा ने लिखा, “फिल्म इंडस्ट्री और हमारे देश के लिए आपके प्रेरक विचारों को जानकर खुशी हुई. सर, मैं कहना चाहूंगा कि आपका सेंस ऑफ ह्यूमर शानदार है.” इस पर मोदी ने कहा, “जब कपिल शर्मा किसी के सेंस ऑफ ह्यूमर की सराहना करते हैं, तो वह व्यक्ति निश्चित तौर पर खुश होता है और मैं इस मामले में कोई अपवाद नहीं हूं. आपके शब्दों के लिए शुक्रिया कपिल.”

मोदी ने कार्यक्रम की शोभा बढ़ाने के लिए प्रख्यात गायिका आशा भोंसले को धन्यवाद दिया और कहा, “फिल्म की दुनिया में आपके शानदार योगदान के लिए पूरा देश आपकी सराहना करता है.” बता दें, पीएम मोदी ने शनिवार को मुंबई में देश के पहले भारतीय राष्ट्रीय सिने संग्रहालय (एनएमआईसी) का उद्घाटन किया. मोदी ने कहा, “फिल्मों को सामाजिक बदलाव के साथ याद किया जाता है..उनमें भविष्य के बदलाव को पकड़ने की कुशलता होती है. सैकड़ों विभिन्न भाषाएं, हजारों बोलियां बोलने वालों और व्यापक रूप से फैली संस्कृतियों को एक करती हैं और अपने तरीके से पर्यटन को बढ़ावा देती हैं और रोजगार के अवसर पैदा करने में मदद करती हैं और इस प्रकार से राष्ट्र-निर्माण की प्रक्रिया में विशाल योगदान देती हैं.”

इसके अलावा, उन्होंने कहा कि भारतीय फिल्में दुनियाभर में देश का प्रतिनिधित्व करती हैं. बाहरी लोगों को आईना दिखाती हैं, हमें हमारी छवि वैश्विक रूप से सुधारने में मदद करती हैं. हमारी फिल्मों, संगीत, गानों के साथ हमारे कलाकार कई देशों में लंबे समय तक रहने वाला प्रभाव छोड़ रहे हैं.

बॉलीवुड और मनोरंजन जगत की ताजा ख़बरें जानने के लिए जुड़े रहें  India.com के साथ.