चंडीगढ़: ‘गैंग्स ऑफ वासेपुर’ और ‘द लंचबॉक्स’ के निर्माता ने चंडीगढ़ के लेखक खुशवंत सिंह द्वारा लिखित बेस्टसेलिंग उपन्यास ‘महाराजा इन डेनिम्स’ को पर्दे पर लाने के लिए चुना है. गुनीत मोंगा की सिख्य एंटरटेनमेंट और एमरेलिस, जो कि मंजुल पब्लिशिंग हाउस के इम्प्रिंट हैं, उन्होंने बुधवार को ऐतिहासिक कथा के फिल्म अधिकारों के खरीदे जाने की घोषणा की. उपन्यास में महाराजा रणजीत सिंह की एक दिलचस्प कहानी है, जो हरि नामक एक किशोर की आंखों देखी कहानी है, जो खुद को महाराजा का पुनर्जन्म मानता है. Also Read - खुशवंत सिंह के उपन्यास को अश्लील बताया, रेलवे के स्टॉल से हटाने के लिए कहा

कहानी दो युगों के यानी महाराजा रणजीत सिंह के शासनकाल और समकालीन भारत के गौरवशाली शासन के बीच की है. महाराजा रणजीत सिंह को ‘शेर-ए-पंजाब’ या ‘पंजाब का शेर’ के नाम से जाना जाता है. हरि अतीत और वर्तमान के पंजाब के ऐतिहासिक, आध्यात्मिक और राजनीतिक इतिहास के बीच का एक सेतु है.

इसके बारे में बात करते हुए पुरस्कार विजेता फिल्मों के प्रशंसित निर्माता, सिख्य एंटरटेनमेंट के संस्थापक, गुनीत मोंगा ने कहा, “यह एक ऐसी कहानी है जो पंजाब को एक नए चश्मे से दिखाती है.”

उन्होंने आगे कहा, “इतिहास में परि²श्य बहुत ही समृद्ध है, विभाजन की कहानियों की तुलना में भी बहुत अधिक, जो हमने अब तक मुख्यधारा के सिनेमा में देखा है. प्रसिद्ध महाराजा रणजीत सिंह को एक युवा के चश्मे से देखना रोमांचक होगा.”

‘गैंग्स ऑफ वासेपुर’, ‘द लंचबॉक्स’ और ‘मसान’ जैसी प्रशंसित फिल्मों के निर्माण के लिए उद्योग में लोकप्रिय गुनीत ने कहा कि खुशवंत के उपन्यास में कई युगों और बहुत ही मार्मिक और साहस से भरी तब और अब की कहानी है.