मुंबई: महिलाओं के सम्मान में एक दिन का जश्न मनाना अच्छा विचार है, लेकिन साल के अन्य 364 दिनों का क्या? यह प्रतिक्रिया बॉलीवुड की अभिनेत्री कियारा आडवाणी की थी, जब उनसे महिला दिवस के बारे में पूछा गया. नेटफ्लिक्स फिल्म ‘गिल्टी’ के प्रमोशन के दौरान कियारा ने एजेंसी से कहा, “हर दिन महिला दिवस होना चाहिए और हर दिन उनके सम्मान में जश्न मनाना चाहिए. सिर्फ एक दिन क्यों?” Also Read - डब्बू रतनानी के शूट के लिए कियारा आडवाणी ने पत्तों से ढका था जिस्म, फिर तस्वीर हो रही है वायरल, मसला क्या है?

अभिनेत्री का मानना है कि महिलाओं के सम्मान में सिर्फ एक दिन का जश्न मनाने का विचार उनकी समझ से परे हैं, वह भी तब तक जब तक कि महिलाओं के खिलाफ भेदभाव और अपराधों पर लगाम नहीं लगाया जाता और उनका सम्मान नहीं किया जाता. हालांकि कियारा इस बात से खुश हैं कि इस विषय पर कम से कम बातचीत जरूर शुरू हुई है.

कियारा ने कहा, “पहले इन विषयों पर बातचीत हमेशा दबा दी जाती थी. आज हम अंतत: असहज करने वाले विषयों पर चर्चा कर रहे हैं. हमारे देश में दुष्कर्म की दर खतरनाक स्तर पर है, ऐसे में हम सभी को इससे लड़ने की जरूरत है. मुद्दे की बात यह है कि कम से कम इन विषयों पर बातचीत शुरू हो गई है और हमनें अपने लक्ष्य की ओर एक कदम बढ़ाया है.”