नई दिल्ली: सोनी टीवी के शो कौन बनेगा करोड़पति के 11वें सीजन में एक ऐसी कंटेस्टेंट आई, जिनके संघर्ष ने सभी का दिल जीत लिया. महाराष्ट्र के ठाणे में रहने वाली निमिता राउत ‘टीच फॉर इंडिया’ नाम के एक एनजीओ से जुड़ी हुई हैं. और शो में जीते हुए पैसों से गरीब बच्चों के लिए स्टडी सेंटर खोलना चाहती हैं. आपको बता दें कि निमिता इंजीनियर हैं, उन्होंने वर्ष 1981 में बीएचयू से आईआईटी (IIT) किया था. अमिताभ बच्चन के सामने उन्होंने पढ़ाई के दिनों के दौरान किए गए अपने संघर्ष को शेयर किया. उन्होंने बताया कि वह अपने डिपार्टमेंट में एकलौती लड़की थी, उन्हें तीसरे, चौथे और अंतिम साल में गोल्ड मेडल मिला था जिसके लिए उन्होंने काफी कठोर मेहनत की. शो के दौरान निमिता ने कहा कि यदि वह एक अच्छी धनराशि जीतती हैं तो वह ऐसे बच्चों के लिए स्टडी सेंटर खोलेंगी जो घर में पढ़ाई नहीं कर पाते. उनके पति नचिकेता राउत शो में उनके सहयोगी के तौर पर आए हुए थे.

निमिता ने 13वें सवाल के जवाब को लेकर दुविधा में होने के चलते गेम को क्विट कर दिया. उन्होंने 4 लाइफ लाइन के सहयोग से 12 लाख 50 हजार की धनराशि जीती अपने संघर्ष के बारे में बताते हुए निमिता ने कहा कि वे इंजीनियरिंग करना चाहती थीं. मगर लोग ये कहते हुए मना करते थे कि इंजीनियरिंग करके क्या करोगी. मुझसे कहा जाता था कि एक लड़के की सीट क्यों खाना चाहती हो.

आपको बता दें कि बता दें कि उन्होंने नोबेल पुरस्कार को लेकर पूछे गए एक सवाल पर गेम से क्विट कर दिया, जिसमें पूछा गया था कि कौन सा नोबेल पुरस्कार शुरुआत के बाद से हर वर्ष दिया गया है? जिसका जवाब अर्थशास्त्र है.

बॉलीवुड और मनोरंजन जगत की ताजा ख़बरें जानने के लिए जुड़े रहें  India.com के साथ.