स्टारकास्ट: विवान शाह, अक्षरा हासन, गुरमीत चौधरी, सौरभ शुक्ला, संजय मिश्रा, कविता वर्मा, रवि किशन, दर्शन जरीवाला।
डायरेक्टर: मनीष हरीशंकर
प्रोड्यूसर: टीपी अग्रवाल, राहुल अग्रवाल
म्यूजिक: विपिन पटवा, रेवंत सिद्धार्थ, अर्को
जॉनर: फैमिली ड्रामा
रेटिंग: 5/2

मनीश हरिशंकर की कॉमेडी फिल्म ‘लाली की शादी में लड्डू दीवाना’ आज शुक्रवार रिलीज हो गयी. फिल्म में कमल हसन की बेटी अक्षरा हसन और नसीरुद्दीन शाह के बेटे विवान शाह ने मुख्य भूमिका निभाई है. फिल्म की कहानी लड्डू (विवान), लाली (अक्षरा) और वीर (गुरुमीत) के इर्दगिर्द घूमती है. लाली और लड्डू एक दूसरे से प्यार करते हैं. लेकिन इस बीच दोनों की जिन्दगी पूरी तरह बदल जाती है जब लड्डू को मालूम चलता है कि लाली प्रेग्नेंट हो गई है. लड्डू के ढेरों सपने हैं वो पहले उन्हें पूरा करना चाहता है और फिर बाद में शादी. लेकिन लाली शादी और बच्चा दोनों चाहती है. फ़िलहाल दोनों ना चाहते हुए एकदूसरे से अलग हो जाते हैं और फिर शुरू होता है कहानी में ट्विस्ट, जब गुरुमीत, लाली के जिन्दगी में आता है और उसे प्यार करने लगता है और उससे शादी करने का फैसला करता है. फिल्म की कहानी यहीं से शुरू होती है. जो आपको हंसायेगा और रुलाएगा. लेकिन क्या लड्डू, लाली से शादी करेगा और क्या लाली के घर वाले लड्डू को अपनाएंगे ? इन सब सवालों का जवाब पाने के लिए आपको सिनेमाघरों में जाना पड़ेगा.

अगर एक्टिंग के बारे में बात करें तो खूबसूरत अभिनेत्री अक्षरा हसन की एक्टिंग थोड़ी फीकी नजर आई. उन्होंने कई जगह बेहतरीन काम किया लेकिन कुछ जगहों पर वो कमाल दिखाने में कामयाब नहीं हो पाई. विवान शाह ने लड्डू के किरदार में बिल्कुल फिट दिखे. वहीं गुरमीत चौधरी ने अपना बेस्ट देने की पूरी कोशिश की. सौरभ शुक्ला और संजय मिश्रा ने एक बार फिर साबित कर दिया कि उनसे बेहतर कोई नहीं. पूरी फिल्म में दोनों ही अभिनेताओ ने दर्शकों को बांधा रखा और बेहतरीन डायलॉग्स के साथ लोगों को हंसाया.

अगर कहानी की बात करें तो फिल्म ने भारतीय शादी को एक नए तरीके से लोगों को पेश किया. जिसमें दिखाया गया कि शादी से पहले प्रेगनेंट होने वाली लड़की को कैसे लड़के के घर वालों ने उसे अपनाया और बेटी की तरह से रखा. सीरियस मुद्दे पर बनी इस  फिल्म में कॉमेडी का तड़का डाला गया वैसे फिल्म लोगों की सोच जरुर बदलने में कामयाब होगी.

अगर फिल्म के संगीत के बारे में बात करें तो टाइटल ट्रैक में सुखविंदर सिंह ने कमाल का गाना गाया है वहीं रोग जाने और रिश्ता जैसे गीत लोगों के जुबान पर आसानी से चढ़ जाएंगे.

वैसे अगर आप फैमिली ड्रामा और कॉमेडी फ़िल्में देखना पसंद करते हैं तो ये फिल्म आपको जरुर पसंद आएगी. इसे एक बार देखा जा सकता है.

स्टार रेटिंग: 1 स्टार * (खराब), 2 स्टार ** (औसत), 3 स्टार *** (अच्छा), 4 स्टार ****(बहुत अच्छा), 5 स्टार ***** (उत्कृष्ट)