20 Years of Lagaan: बॉलीवुड की मशहूर फिल्म ‘लगान’ ने आज अपने 20 साल (Lagaan) पूरे कर लिए हैं. बॉक्स ऑफिस पर धमाल मचाने के साथ ही यह फिल्म ऑस्कर जीतने के दौड़ में भी शामिल हुई थी. हालांकि फिल्म के मुख्य अभिनेता आमिर खान का कहना है कि वह ‘लगान’ को बनाने के अनुभव को दोबारा नहीं जीना चाहते हैं. आशुतोष गोवारिकर के निर्देशन में बनी इस फिल्म के बारे में सुपरस्टार आमिर खान कहते हैं, “अगर आप मुझसे ‘लगान’ के दोबारा बनने की बात करेंगे, तो मैं इसे नहीं करूंगा. लगान को दोबारा तैयार करने की मुझमें हिम्मत नहीं है.”Also Read - तलाक के बाद फिर साथ दिखे Aamir Khan-Kiran Rao, बेटे आजाद के साथ लद्दाख में खेला टेबल टेनिस

हालांकि यह शायद परिपूर्णता के उस एहसास की बात करता है, जिसे पहली बार बनाए जाने के दौरान ही फिल्म की टीम ने अनुभव कर लिया है. इसके अलावा, आमिर अपने किए किसी काम को आमतौर पर दोहराते भी नहीं हैं. आज फिल्म ने अपने 20 साल पूरे कर लिए. यह सर्वश्रेष्ठ विदेशी फीचर फिल्म की श्रेणी में ऑस्कर में भारत की तीसरी आधिकारिक प्रविष्टि बनी थी. आमिर का कहना है कि इस फिल्म से जुड़ी कई यादगार लम्हें हैं, इनमें से किसी एक के बारे में कहना काफी मुश्किल है. Also Read - तलाक के बाद लद्दाख में एक साथ डांस करते दिखे आमिर और किरण राव, फॉक डांस में दिखी दोनों की मस्ती

Lagaan: Ways the landmark movie tripped on cricketing details - Cricket  CountryAlso Read - Aamir Khan की टीम से हो गई बड़ी गलती, 'लाल सिंह चड्ढा' की शूटिंग के दौरान लद्दाख में फैलाई गंदगी- Video

वह अभिनेता पॉल ब्लैकथॉर्न को याद करते हैं, जिन्होंने क्रूर कैप्टन रसेल की भूमिका निभाई थी. आमिर कहते हैं कि ऑफ कैमरा रसेल काफी नम्र स्वभाव के थे, जो सेट पर सभी को विनी-द-पूह पढ़कर सुनाते थे.

आईएएनएस संग बात करते हुए आमिर ने कहा, “खलनायक की भूमिका निभाने वाले पॉल ब्लैकथॉर्न असल जिंदगी में बेहद ही प्यारे और नम्र स्वभाव के हैं. वह हमेशा हंसा करते थे, लोगों को चुटकुलें सुनाया करते थे. हमारा एक बड़ा सा मेकअप रूम था, जहां हम सभी तैयार होते थे. और वह पॉल ही थे जो हम सभी का मनोरंजन किया करते थे. वह चेयर पर बैठकर जोर-जोर से विनी-द-पूह पढ़ते थे. हर रोज सुबह हम सब मेकअप वगैरह करके तैयार हो जाते थे और पॉल उस वक्त विनी-द-पूह जोर-जोर से पढ़ते थे, हम सभी सुनते थे. हमें बहुत मजा आता था.”

Lagaan: Once Upon a Time in India – The Asian Cinema Blog

एक और किस्से को याद करते हुए आमिर ने बताया, “उन दिनों एक चीज हमारी आदत बन गई थी. हम बस में सवार होकर सुबह चार बजे लोकेशन पर पहुंचते थे. और हर रोज छह महीने तक गायत्री मंत्र का बजना हमारी आदत में शुमार हो गया. कोई न कोई एक्टर सुबह उठते ही इसे स्पीकर पर चला देता था. भोर के अंधेरे में रोज-रोज उठने के दरमियान यह हममें उर्जा का संचार करता था. एक दिन भी इसके बिना नहीं बीता.”

आमिर के साथ-साथ पूरी यूनिट के लिए लगान एक ऐसा चैप्टर रहा है, जो हमेशा उनके जीवन का अभिन्न अंग बना रहेगा. यही वजह है कि वह टीम के संपर्क में अभी भी बने हुए हैं.

15 Years Of Lagaan: What makes the Aamir Khan classic timeless? - Movies  News

आमिर कहते हैं, “मैं अभी भी पॉल, रेचल शेली (जिन्होंने एलिजाबेथ की भूमिका निभाई) के साथ अन्य सभी कलाकारों के संपर्क में हूं. पांच महीने पहले तक हमारा एक अपना व्हाट्सएप ग्रुप था. फिर मैंने फोन का इस्तेमाल करना बंद कर दिया था, जिसके बाद से मैं अब उसका हिस्सा नहीं हूं.”

इनपुट- आईएएनएस