Lata Mangeshkar Birthday: संगीत की दुनिया की वो रौशनी जिसकी लौ से हिंदुस्तान का दस्तार हमेशा चमकता रहा है. छह दशकों से भी ज़्यादा से संगीत की दुनिया को सुरों से नवाज़ने वाली भारत की ‘स्‍वर कोकिला’ लता मंगेशकर का आज जन्मदिन है. 28 सितंबर, 1929 को एक मध्यम वर्गीय मराठा परिवार में जन्मी (Happy Birthday Lata Mangeshkar) लता मंगेशकर ने पांच साल की उम्र से ही संगीत सीखना शुरू कर दिया था. लता ‘ताई’ को भी अपने  फ़िल्मी करियर में खूब संघर्ष करना पड़ा था. शुरू-शुरू में पतली आवाज़ के कारण लता मंगेशकर को कई बार रिजेक्शन भी देखना पड़ा था मगर वक़्त के साथ सुर, लय और ताल पर इस रौशनी ने अपना दबदबा बना लिया.Also Read - उस दिन जब आशा भोसले बेहद घबराई हुईं थीं तब लता मंगेशकर ने कहा था....

जन्मदिन के मौके पर जानते हैं लगभग 20 भाषाओं में गाना गाने वाली लता मंगेशकर की जिंदगी के कुछ रोचक किस्से: Also Read - 'यूसुफ भाई अपनी छोटी बहन को छोड़ के चले गए', कहकर रो पड़ीं लता मंगेशकर

पहली बार गाने के मिले थे 25 रुपए Also Read - Dilip kumar News: मुंबई 1993 बम धमाकों पर रिएक्शन के लिए जब एक पत्रकार ने किया था दिलीप कुमार को फोन, पढ़िए मजेदार किस्सा

लताजी को पहली बार मंच पर गाने के लिए 25 रुपये मिले थे. इसे वह अपनी पहली कमाई मानती हैं. लताजी ने पहली बार 1942 में मराठी फिल्म ‘किती हसाल’ के लिए गाना गाया. लता के भाई हृदयनाथ मंगेशकर और बहनें उषा मंगेशकर, मीना मंगेशकर और आशा भोंसले सभी ने संगीत को ही अपना करियर चुना.

शादी से अब तक क्यों दूर रही हैं लता मंगेशकर?

बचपन में कुंदनलाल सहगल की एक फिल्म चंडीदास देखकर वह कहती थीं कि वह बड़ी होकर सहगल से शादी करेंगी. लेकिन उन्होंने शादी नहीं की. उनका कहना है कि घर के सभी सदस्यों की जिम्मेदारी उन पर थी, ऐसे में जब शादी का ख्याल आता भी तो वह उस पर अमल नहीं कर सकती थीं.

लता ताई के उसूल 

अभी भी गाने की रिकॉर्डिंग के लिये जाने से पहले लता मंगेशकर कमरे के बाहर अपनी चप्पलें उतारती हैं. वे हमेशा नंगे पाँव गाना गाती हैं.

जब लता मंगेशकर को दिया गया ज़हर 

साल 1962 में लता मंगेशकर को  स्लो प्वॉइजन यानी ज़हर दिया गया था. इस वक़्त लता 32 साल की थीं. लता की बेहद करीबी पदमा सचदेव ने इसका जिक्र अपनी किताब ‘Aisa Kahan Se Lauen’में किया है.हालांकि उन्हें मारने की कोशिश किसने की, इसका खुलासा आज तक नहीं हो पाया है.