विवादित फिल्म इंदु सरकार को सेंसर ने यू/ए सर्टिफिकेट, दो कट और एक डिस्क्लेमर के साथ पास किया है. फिल्म इमरजेंसी पर आधारित है. इसपर काफी बवाल हो चुका है. कांग्रेस पार्टी का कहना है कि इसमें उनकी छवि को नकारात्मक रुप से दिखाया गया है.Also Read - Exclusive ! "काव्य एक शानदार अदाकारा हैं", भेजा फ्राई फेम विनय पाठक ने खोले और भी कई राज़: Watch

वहीं कुछ लोगों ने भी इसका जमकर विरोध किया है. जिससे मधुर दुखी है. वे इस बात से भी दुखी हैं कि वे अकेले ही इसका विरोध झेल रहे हैं. बॉलीवुड से उन्हें बिल्कुल भी सपोर्ट नहीं मिला. देखिए फिल्म का ट्रेलर Also Read - Chitrashi Rawat's Exclusive Interview : चित्राशी ने किआ शाहरुख खान के साथ अपनी बेस्ट मेमोरीज को रिवील ! Watch

Also Read - शबाना रजा है मनोज बाजपेयी की पत्नी का असली नाम, मजबूरी में बन गई थीं नेहा, बताई वजह

मधुर ने कहा, जब फिल्म उड़ता पंजाब और और ऐ दिल है मुश्किल का विरोध हुआ था. उस वक्त वे इंडस्ट्री के साथ खड़े थे. वे इस वक्त जब उन्हें जरूरत थी किसी ने उनका साथ नहीं दिया. इस बात से वे खासे नाराज हैं.

भंडारकर ने कहा, किसी ने भी उनके समर्थन में ट्वीट नहीं किया. कोई बात नहीं की. कोई उनके समर्थन में नहीं उतरा. इस बात ने उन्हें दुखी किया है. आपको बता दें इंदु सरकार की कहानी में 1975 से 1977 का समय दर्शाया गया है जब आपातकाल भी लगा था.

कहानी में एक लड़की है इंदु जो एक कवियत्री है लेकिन हकलाती है. वह शादी करना चाहती है.  उस वक्त उसकी मुलाकात एक सरकारी अफसर से होती है. आगे की कहानी देखने के लिए आपके फिल्म देखनी पड़ेगी. इंदु सरकार 28 जुलाई को रिलीज हो रही है.