मुंबई. बॉलीवुड सुपरस्टार शाहरुख खान (Shah Rukh Khan) की शुक्रवार को रिलीज हुई फिल्म ‘जीरो’ ने भारत के साथ-साथ दुनियाभर में धमाल मचा दिया है. यही वजह है कि फिल्म देखने के लिए जहां देश के सिनेमाघर दर्शकों से हाउसफुल हो गए, वहीं विदेशों में बसी कई हस्तियां भी इस फिल्म की तारीफ कर रही हैं. इन्हीं हस्तियों में से एक है नोबेल शांति पुरस्कार से सम्मानित मलाला युसुफजई (Malaa Yusufzai). मलाला को शाहरुख खान की यह फिल्म इतनी पसंद आई कि उन्होंने खुद फोन कर किंग खान को इसके लिए बधाई दी है. मलाला ने शाहरुख की इस फिल्म को देखने के बाद खास तौर पर एक वीडियो मैसेज भेजकर बॉलीवुड के अभिनेता को बधाई दी.

अपनी इस नई फिल्म में शाहरुख ने एक बौने कद वाले बउआ सिंह का चुनौतीपूर्ण किरदार निभाया है. मलाला ने यह फिल्म शुक्रवार को देखी और सोशल मीडिया पर एक वीडियो मैसेज पोस्ट किया, जिसमें उन्होंने कहा कि उन्हें और उनके परिवार को आनंद एल राय द्वारा निर्देशित यह फिल्म बेहद पसंद आई. मलाला ने लिखा, ‘‘हैलो शाहरुख, आपकी फिल्म देखना अच्छा लगता है. यह बेहद मनोरंजक फिल्म थी और मेरे पूरे परिवार को बेहद पसंद आयी.’’ उन्होंने लिखा, ‘‘मैं आपकी बहुत बड़ी प्रशंसक हूं और टि्वटर पर आपके साथ बातचीत अच्छी रही.

बच्चों के अधिकारों के लिए आतंकवाद से संघर्ष करने वाली मलाला युसुफजई वर्ष 2009 में उस वक्त चर्चा में आई थी, जब उन्होंने पाकिस्तान के खैबर-पख्तूनवा के स्वात में आतंकी संगठन तहरीक-ए-तालिबान का विरोध किया था. बीबीसी के लिए ‘गुल मकई’ नाम से ब्लॉग लिखकर मलाला ने स्वात इलाके में इस आतंकी संगठन के बर्बर करतूतों की कलई पूरी दुनिया के सामने खोल दी. मलाला ने आतंकी संगठन की धमकियों और जुल्म को नजरअंदाज कर बच्चों की शिक्षा के लिए आवाज बुलंद की. इस आतंकी संगठन ने बच्चों के स्कूल जाने पर प्रतिबंध लगा दिया था. लेकिन मलाला ने उनकी बात नहीं मानी. नतीजे में आतंकियों ने मलाला पर कातिलाना हमला किया. इसके बाद मलाला दुनिया की नजरों में आईं. वर्ष 2014 में उन्हें 17 वर्ष की उम्र में नोबेल शांति पुरस्कार से सम्मानित किया गया.

(इनपुट – एजेंसी)