हिमाचल प्रदेश में भारी बारिश और भूस्खलन के चलते ऊंची पहाड़ियों में फंसी केरल की प्रसिद्ध अभिनेत्री मंजू वारियर और मलयालम फिल्म ‘काइटेम’ का 25 सदस्यीय दल सुरक्षित मनाली में एक टूरिस्ट रिसॉर्ट में पहुंच गए हैं. प्रशासन ने गुरुवार को इसकी जानकारी दी. Also Read - अटल टनल से गुजरे आर्मी के काफिले की ये PHOTOES, चीन को क्‍यों हो रही जलन

Also Read - शिमला, मनाली जाने के लिए अब E-Pass की जरूरत नहीं, जानें राज्य सरकार का नया आदेश...

एक सरकारी अधिकारी ने कहा, “फिल्म के क्रू और उनके साथ फंसे स्थानीय लोग बुधवार रात को सुरक्षित मनाली पहुंच गए.” Also Read - हिमाचल जाने का कर रहे हैं प्लान तो पढ़ लें ये खबर, राज्य सरकार इन 12 रूट्स पर 20 सितंबर से शुरू कर रही बस सेवा

क्रू के साथ गए मनाली के ट्रैवल एजेंट गंगा राम ने बताया कि फिल्म की शूटिंग लगभग पूरी हो गई थी और क्रू के सदस्य एक या दो दिन में लौटने वाले थे.

मनाली से लगभग 100 किलोमीटर की दूरी पर लाहौल घाटी के छत्रु में फिल्म का दल के साथ 11 स्थानीय निवासियों की एक टीम के साथ फंस गया.

भूस्खलन के कारण रोहतांग दर्रे में से होकर जाने वाले मनाली – लाहौल घाटी का संपर्क मार्ग बुरी तरह से छतिग्रस्त था. इस मार्ग पर बुधवार शाम से यातायात बहाल हो गया.

निर्देशक सनल कुमार शशिधरन और क्रू के अन्य सदस्यों के साथ वारियर पिछले दो हफ्ते से अधिक समय से हिमाचल प्रदेश में शूटिंग कर रही थीं.

सैटेलाइट फोन की मदद से वारियर के अपने भाई को कॉल करने के बाद छत्रु गांव में उनके फंसे रहने की खबरें सोमवार देर रात को सामने आई.

(इनपुट आईएनएस)

बॉलीवुड और मनोरंजन जगत की ताजा ख़बरें जानने के लिए जुड़े रहें  India.com के साथ