जियो मामी फिल्म महोत्सव के 17वें संस्करण में ट्रस्टी की वर्तमान सदस्य निर्देशक जोया अख्तर का कहना है कि वह इस साल महोत्सव को ‘जीवंत’ और ‘जनता के अनुकूल’ बनाने पर ध्यान केंद्रित कर रही हैं। फिल्मकार किरण राव की अध्यक्षता में महोत्सव 29 अक्टूबर से 5 नवंबर तक आयोजित होगा। यह भी पढ़े – जोया अख्तर कलाकार की ऊर्जा का इस्तेमाल करने में माहिर : करण जोहर

जोया ने आईएएनएस से कहा, “हम महोत्सव को जीवंत और जनता के अनुकूल बनाने की दिशा में काम कर रहे हैं। यह लोगों को त्योहार की तरह लगना चाहिए।”बोर्ड के सदस्य की नई सदस्य के रूप में उन्होंने कहा कि इसके लिए उन्हें राजी करने की आवश्यकता नहीं थी।
उन्होंने कहा, “मुझे फिल्में पसंद हैं। मुझे नहीं लगता कि यह फिल्म समारोह का हिस्सा बनने का यह एक बेहतर कारण है। यह शुरुआत में इसका हिस्सा बनने के लिए भाव उत्पन्न करता है।”

उन्होंने कहा, “जब भी महोत्सव के दौरान शहर में थी। मैं इसका हिस्सा बनीं।” महोत्सव में भारतीय फिल्मों की शुरुआत से जोया काफी उत्साहित हैं।

उन्होंने कहा, “इसकी शुरुआत हो रही है यह भारतीय फिल्मों के लिए अच्छा है। यह हमारे लोगों द्वारा आयोजित त्योहार है, जो देश में हो रहा है।”