टीवी एक्ट्रेस अंकिता लोखंडे का कहना है कि करियर के उतार-चढ़ाव भरे दौर में उनके माता-पिता हमेशा उनके साथ मजबूत स्तंभ की तरह खड़े रहे हैं. अंकिता ने मीडिया से कहा, “मैं अपने करियर के हर हिस्से और मुझे जो सराहना मिली है, उसके लिए माता-पिता की आभारी हूं. उतार-चढ़ाव के दौर में वे मेरे साथ मजबूत स्तंभ की तरह खड़े रहे हैं.” टीवी शो ‘पवित्र रिश्ता’ में अर्चना का किरदार निभाकर लोकप्रिय हुईं अंकिता फिल्म ‘मणिकर्णिका : द क्वीन ऑफ झांसी’ से बॉलीवुड में डेब्यू कर रही हैं. Also Read - कंगना रनौत के खिलाफ जमानती वारंट जारी, तिलमिलाई एक्ट्रेस ने कहा- जावेद चाचा ने ली सरकार की मदद

Also Read - Kangana Ranaut ने Twitter कंपनी पर फिर साधा निशाना, बोलीं- मैं यहां अपने देश के लिए हूं और इसी बात से उन्हें दिक्कत है

  Also Read - Hrithik Roshan कंगना रनौत के मामले में बयान दर्ज कराने मुंबई पुलिस कमिश्‍नर ऑफिस पहुंचे

View this post on Instagram

 

These 10 years have been very special part of my life. From playing Archana in #PavitraRishta to playing #JhalkariBai in #Manikarnika, it was a great experience. I want to thank everybody who has been a part of this journey. Looking forward to many more memorable decades to come. #10yearchallenge

A post shared by Ankita Lokhande (@lokhandeankita) on

अंकिता जब फिल्म के प्रमोशन के लिए अपने गृह नगर इंदौर पहुंचीं तो प्रेस कॉन्फ्रेंस में उनके माता-पिता भी मौजूद थे. अभिनेत्री ने कहा कि माता-पिता ने करियर के सफर में हमेशा उनका साथ दिया है और वह ऐसे माता-पिता को पाकर खुशकिस्मत महसूस करतीं हैं. ‘मणिकर्णिका: द क्वीन ऑफ झांसी’ में रानी लक्ष्मीबाई की भूमिका में अभिनेत्री कंगना रनौत हैं, जबकि झलकारी बाई के किरदार में अंकिता नजर आएंगी.

फिल्म की कहानी के बारे में बात करें तो ये रानी लक्ष्मी बाई के जीवनकाल पर आधारित है. रानी लक्ष्मीबाई का जन्म 19 नवंबर, 1828 को बनारस के एक मराठी ब्राह्मण परिवार में हुआ. उन्हें मणिकर्णिका नाम दिया गया और घर में मनु कहकर बुलाया गया. मणिकर्णिका का ब्याह झांसी के महाराजा राजा गंगाधर राव नेवलकर से हुआ और देवी लक्ष्मी पर उनका नाम लक्ष्मीबाई पड़ा. यह फिल्म 25 जनवरी 2019 को रिलीज होगी. वैसे ट्रेलर देखने के बाद से ही लोगों में इस फिल्म को लेकर क्रेज बढ़ गया है और वे इसका बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं.

हालांकि फिल्म को लेकर करणी सेना ने भी इसके निर्माताओं को एक पत्र लिखा है. इस में करणी सेना ने कहा अगर फिल्म में रानी लक्ष्मी बाई की छवि को बदनाम करने की कोशिश या फिर ब्रिटिश के लोगों के लिए हमदर्दी या प्यार दिखाया गया तो मिर्माताओं को इसका परिणाम भुगतना पड़ेगा. फिल्म 25 जनवरी को रिलीज होगी.

बॉलीवुड और मनोरंजन जगत की ताजा ख़बरें जानने के लिए जुड़े रहें  India.com के साथ.