मांझी एक ऐसे आदमी की कहानी है, जिसने अपने प्यार के खातिर सिर्फ छैनी और हथौड़ी की मदद से एक पहाड़ को काटकर रख दिया। यह कहानी है बिहार के गेह्लौर जिले के एक आम आदमी दशरथ मांझी की। मांझी- द माउंटेन मैन इसी दशरथ मांझी की ज़िन्दगी और जस्बे पर आधारित है। Also Read - मिसाल: दशरथ मांझी, लौंगी भुइयां के गया में ग्रामीणों ने श्रमदान, चंदा इकट्ठा कर बना डाली पुलिया

इफ फिल्म की शुरुआत होती है, रोंगटे खड़े कर देनेवाले सीन से, जहाँ दशरथ मांझी पहाड़ को तोड़ने की कसम खाता है। मांझी की पत्नी फगुनिया की मौत पहाड़ से गिरकर हो जाती है, जिसके बाद मांझी उस पहाड़ से बदला लेने की ठान लेता है। और इसी बदले की वजह से पहाड़ काटकर रास्ता बना देता है। मूवी कई बार करेंट सीन से फ्लैशबैक में जाती है और इसी तरह मांझी की कहानी को एक अलग ही अंदाज़ में समझाने की बेहतरीन कोशिश की गई है। Also Read - bollywood | Acting in Hollywood | Nawazuddin | हॉलीवुड में अभिनय करने को तैयार नवाजुद्दीन

यह कहानी एडवेंचर और रोमांस से भरपूर है। मांझी का किरदार नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी और मांझी की पत्नी फगुनिया का किरदार राधिका आप्टे ने निभाया है। कहानी में अगर कुछ रोमांचित करनेवाला है तो, वह है नवाज़ुद्दीन का अभिनय। जिससे नवाज़ुद्दीन ने सबका दिल जीत लिया है। राधिका ने भी अपने किरदार को बखूबी निभाया है। Also Read - Abdul Kalam | Dashrath Manjhi | Postal Tickets | कलाम व दशरथ मांझी की याद में जारी होगा डाक टिकट : रविशंकर

वायाकॉम 18 मोशन पिक्चर के बैनर तले बनी इस फिल्म को डायरेक्ट किया है केतन मेहता ने। फिल्म के तीन ही गाने हैं, जिनका म्युज़िक बहुत अच्छा तो नहीं पर सिचुएशन की ज़रुरत को पूरा करने के लिहाज़ से बेहतर है। सब कुछ मिलकर यह फिल्म पैसा वसूल फिल्म है, जो लीग से हटकर बनाई गई है।

रेटिंग : ****