बॉलीवुड अदाकारा नीना गुप्ता का कहना है कि पुरुषों को प्राथमिकता बनाना उनकी जिंदगी की बड़ी गलती थी, जिसकी वजह से उनका ध्यान करियर से हटकर सही पार्टनर चुनने पर केंद्रित हो गया. ‘खानदान’, ‘भारत एक खोज’, ‘सांस’ जैसे टीवी शो और ‘वो छोकरी’, ‘गांधी’ एवं ‘मुहाफिज’ जैसी फिल्मों में अपने दमदार अभिनय के लिए प्रसिद्ध नीना (64) ने कहा कि अच्छा रिश्ता बनाए रखने की चाहत ने करियर से उनका ध्यान भटकाया.

Love masabas creation for #badhaaiho promotions

A post shared by Neena Gupta (@neena_gupta) on

नीना ने बताया, ‘‘मैं हमेशा अच्छा काम करना चाहती थी और दमदार भूमिकाएं निभाना चाहती थी. लेकिन अब जब मैं पीछे मुड़कर देखती हूं तो मुझे लगता है कि पुरुष मेरी प्राथमिकता बन गए थे और यह मेरी बड़ी गलती थी. मेरा ध्यान करियर बनाने से हटकर सही पार्टनर चुनने पर केंद्रित हो गया. महिलाओं की जिंदगी में पुरुष कभी प्राथमिकता नहीं होने चाहिए.’’

उन्होंने कहा, ‘‘मैं वाकई अच्छा काम कर रही थी. मैं लिख रही थी, निर्देशन कर रही थी और टीवी पर कुछ बेहतरीन चीजों का निर्माण कर रही थी. निजी जिंदगी में मैं जिन चीजों से गुजरी, मेरी पेशेवर पसंद-नापसंद पर उसका गहरी छाप पड़ी.’’

From a photo shoot last week feels like starting all over again

A post shared by Neena Gupta (@neena_gupta) on

नीना ने कहा कि महिलाओं की परवरिश ही कुछ ऐसी होती है कि उन्हें अपने रिश्तों को निजी लक्ष्यों से ऊपर रखना पड़ता है.

उन्होंने कहा, ‘‘ऐसे पुरुष को तलाशना लगभग नामुमकिन है जो अपने बराबर या अपने से ऊंचे दर्जे की महिलाओं का साथ निभा सके. ऐसे पुरुष इस दुनिया में अब भी नहीं हैं. एक तरह से हमें हमेशा अपनी जिंदगी में तकलीफों का सामना करना होगा.’’

नीना ने कहा, ‘‘यदि हम सख्ती से काम लें तो समस्या, यदि हम ऐसा न करें तो भी समस्या. मुझे नहीं लगता कि कोई महिला अपनी जिंदगी या अपने साथ होने वाले बर्ताव से पूरी तरह खुश होती है.’’

At cannes fr #the last color in #masaba

A post shared by Neena Gupta (@neena_gupta) on

बहरहाल, उनका मानना है कि ‘मी टू’ मुहिम से भारत में हालात बहुत हद तक बदलेंगे.

बता दें, 80 के दशक में नीना गुप्ता का प्रेम प्रसंग वेस्ट इंडीज़ के पूर्व क्रिकेटर विवियन रिचर्ड्स के साथ सामने आया. जिसके बाद नीना ने विवियन की बेटी मसाबा को जन्म दिया. मसाबा के जन्म पर नीना को लेकर काफी विरोध का सामना करना पड़ा था, क्योंकि बिन ब्याही मां बनना नीना के लिए आसान नहीं था. इसका असर उनके करियर पर भी पड़ा था.

(इनपुट भाषा)

बॉलीवुड और मनोरंजन जगत की ताजा ख़बरें जानने के लिए जुड़े रहें  India.com के साथ.