गायिका सोना महापात्रा ने रियलिटी शो ‘इंडियन आईडल’ के जज के पद से अनु मलिक के हटने को यौन उत्पीड़न का शिकार हुई महिलाओं की ‘सांकेतिक जीत’ बताया है. सोना ने कहा, “यह बहुत ही अच्छी खबर है. सोनी टीवी ने यह फैसला लेने में काफी देरी की, लेकिन मैं काफी खुश हूं कि आखिरकार उन्हें शो से हटाया गया. यह पूरे देश की लड़ाई थी.

कई ऐसे लोग थे जो इस इंसान को राष्ट्रीय टेलीविजन पर नहीं देखना चाहते थे, क्योंकि ये गलत लोगों को गलत संदेश दे रहा था कि वे भी ऐसा कर के बच सकते हैं.” बता दें, सोना महापात्रा ने केंद्रीय महिला और बाल विकास तथा कपड़ा मंत्री स्मृति जुबिन ईरानी को ओपन लेटर लिखकर अनु मलिक के मामले दखल देने की अपील की थी. सोना ने ये पत्र गुरुवार दोपहर को लिखा और शाम होते-होते ये खबर आ गई कि अनु मलिक को इंडियन आइडल 11 से बाहर निकाल दिया गया है.

रानू मंडल की मेकअप पुते हुए जिस फोटो का मजाक उड़ा रहे थे आप, वो फेक है, सही ये है!

सोना ने कहा, “मैं निष्पक्षता और न्याय के लिए लड़ रही थी. अब ये खबर सुन कर मुझे लगता है कि यह सभी की जीत है, सिर्फ मेरी नहीं, बल्कि उन सभी महिलाओं की भी, जिनके साथ उन्होंने गलत व्यवहार किया. हमारी लड़ाई अभी खत्म नहीं हुई है, यह शुरू हुई है. हम चुपचाप बैठने वाले नहीं हैं.”

यह मामला साल 2018 में शुरू हुआ था, जब महापात्रा ने मलिक पर यौन दुराचार का आरोप लगाया था. सोना के बाद गायिका नेहा भसीन और श्वेता पंडित ने भी मलिक पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था.

हालांकि, जब सोनी टीवी ने मलिक को इस साल शो के सीजन 11 में बतौर जज नियुक्त किया तो महापात्र ने संगीतकार और चैनल के खिलाफ अपना अभियान शुरू किया था.

बीते दिनों सोशल मीडिया पर सोना को भारी समर्थन मिला, और लोग शो से मलिक को हटाने की मांग करने लगे. इसके बाद गुरुवार को मलिक ने शो से हटने का फैसला किया.

बॉलीवुड और मनोरंजन जगत की ताजा ख़बरें जानने के लिए जुड़े रहें  India.com के साथ.