मुंबई: अभिनेता अर्जुन कपूर ने विकास बहल पर लगे यौन शोषण के आरोपों पर चुप्पी तोड़ते हुए कहा कि फिल्मकार को लेकर फिल्म जगत में हमेशा ऐसी हल्की-फुल्की चर्चा होती रही हैं. अर्जुन इस बात को लेकर स्तब्ध हैं कि ऐसा उस ‘फैंटम फिल्म्स’ के भीतर हुआ, जिसे सिनेमा में बदलाव लाने वाला एक बड़ा बैनर माना जा रहा था.

‘फैंटम फिल्म्स’ की एक पूर्व कर्मचारी ने आरोप लगाया था कि बहल ने 2015 में गोवा की एक यात्रा के दौरान उसके साथ गलत तरीके से बर्ताव किया था. बहल फैंटम फिल्म्स में अनुराग कश्यप, विक्रमादित्य मोटवानी और मधु मोंटेना के साथ साझेदार थे. कश्यप और मोटवानी ने इस मुद्दे पर कुछ नहीं किया के आरोपों के बीच पिछले हफ्ते इस कंपनी (फैंटम फिल्मस) को भंग कर दिया गया था. हालांकि दोनों ने आरोपों से इंकार किया.

#Metoo: दीपिका अमीन ने कहा, महिलाओं को देखकर आलोक नाथ की लार टपकती है, ये हर कोई जानता है

अर्जुन ने कहा, ‘‘फिल्म जगत में इसको लेकर अटकलें थीं. कार्यालय (फैंटम फिल्म्स) के अंदर कुछ लोग थे जिन्हें इसका पता था. अटकलों पर हम कुछ नहीं कर सकते थे क्योंकि कार्यालय के अंदर के लोग ही कुछ नहीं कर रहे थे. यह ऐसा है कि आपके घर में चोरी होने पर, पड़ोसी शिकायत दर्ज नहीं करा सकता.’’

#MeToo पर आखिरकार बोले अमिताभ बच्चन, आलोक नाथ और नाना पाटेकर के हैं खिलाफ

उन्होंने कहा, ‘‘कार्यालय में एचआर का ना होना विचित्र है, मैं इसे समझ नहीं पा रहा…यह किसी भी कपंनी का मूल है. आप लड़की को आगे किसी भी खतरे से बचा पाते अगर आपके कार्यालय में सुरक्षित माहौल होता. यह दुखद और विचित्र है.’’