अभिनेता और ‘द सिने एंड टीवी आर्टिस्ट्स एसोसिएशन’ (सिंटा) के जनरल सेक्रेटरी सुशांत सिंह ने मीडिया से अपील की है कि वे ‘मीटू’ मूवमेंट से जुड़ी एकतरफा नहीं दिखाएं क्योंकि कई झूठे मामले भी सोशल मीडिया के सहारे हाइलाइट किए जा रहे हैं. सुशांत सिंह बुधवार को सिंटा द्वारा आयोजित एक प्रेस सम्मेलन में मीडिया के साथ बातचीत कर रहे थे. उन्होंने इस दौरान इस अभियान को लेकर अपना पक्ष रखा. Also Read - सोना मोहपात्रा की मोनोकनी वाली तस्वीरों पर लोगों ने कहा- भड़काऊ कपड़े पहनों और फिर #MeToo के लिए चिल्लाओ

Also Read - एक्टर सुशांत सिंह ने नागरिकता कानून के खिलाफ किया प्रदर्शन, 'सावधान इंडिया' शो से हटाया गया

सुशांत ने कहा, “मुझे लगता है कि फिल्म उद्योग को अलग-थलग किया जा चुका है लेकिन यदि आप देखेंगे तो यह समस्या अन्य सेक्टर्स में भी है फिर चाहे वह कॉरपोरेट हो या राजनीति. आपको अपने बॉस को खुश करना पड़ेगा, यह लाइन फिल्मों में कई बार इस्तेमाल होती है. इसलिए हां, हम जानते हैं कि यह समस्या हमारी इंडस्ट्री में है लेकिन हम इसे नजरअंदाजर करते आए हैं.” Also Read - Rangbaaz 2 web series : तेज़-तर्रार, क्राइम थ्रिलर ‘रंगबाज़’, इस बार जिम्मी शेरगिल बिना गिने चलाएंगे गोलियां

सुशांत ने ‘म टू’ मूवमेंट का स्वागत किया है क्योंकि यह पीड़ितों को अपनी पीड़ा साझा करने का प्रोत्साहन देता है.

सुशांत ने मीडिया से एक तरफा ‘मीटू’ खबरे नहीं चलाने की अपील करते हुए कहा, “मुझे लगता है कि इस अभियान के झंडाबरदारों को बहुत सावधान होने की जरूरत है क्योंकि कुछ लोग इस अभियान को हाइजैक करना चाहते हैं.”

बता दें, #Metoo भारत में भी अब रफ्तार पकड़ चुका है. नाना पाटेकर, विकास बहल, आलोक नाथ, रजत कपूर, कैलाश खेर, साजिद खान जैसे कई बड़े कलाकारों के नाम सामने आए हैं.

(आईएनएस)

बॉलीवुड और मनोरंजन जगत की ताजा ख़बरें जानने के लिए जुड़े रहें  India.com के साथ.