#MeToo कैंपेन के तहत यौन शोषण के आरोपों से घिरे अभिनेता आलोक नाथ एक बार फिर से सुर्खियों में आ गए हैं. आलोकनाथ ने अग्रिम जमानत के लिए मुंबई की एक अदालत में याचिका दायर की है. यह याचिका गुरुवार को अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश एस एस ओझा के समक्ष दायर की गई है.

अदालत ने शुक्रवार को मामले की सुनवाई 20 दिसंबर तक के लिए स्थगित कर दी. इससे पहले शिकायकर्ता लेखिका-निर्माता के वकील ने आलोकनाथ की जमानत याचिका के खिलाफ जवाब दायर करने के लिये समय मांगा था. लेखिका-निर्माता ने आलोकनाथ पर आरोप लगाया था कि उन्होंने उसके साथ 19 साल पहले बलात्कार किया था.

मुंबई पुलिस ने 21 नवंबर को मामला दर्ज किया था. इससे पहले आलोकनाथ और उनकी पत्नी आशु ने लेखिका-निर्देशिका विनता नंदा के खिलाफ मानहानि की कार्यवाही शुरू करने की मांग करते हुए शनिवार को एक स्थानीय अदालत में शिकायत दायर कर चुके हैं.

आलोकनाथ को ‘मैने प्यार किया’, ‘हम साथ साथ हैं’, ‘हम आपके हैं कौन’ और ‘विवाह’ जैसी फिल्मों में ‘नैतिक मूल्यों’ वाले किरदार निभाने को लेकर जाना जाता है. इसके अलावा सोनी राजदान भी आलोकनाथ के बारे में काफी कुछ बता चुकी हैं. उन्होंने बताया, ”यह उस समय की बात है जब आलोकनाथ मेरे को-एक्टर थे. एक दिन उन्होंने शराब पीने के बाद जिस तरह मुझे देखा वह काफी अजीब और खराब था. मैंने उससे पहले उन्हें ऐसे कभी नहीं देखा था.”

सोनी ने कहा, ”उन्होंने मेरे साथ कभी कुछ किया तो नहीं लेकिन उनकी निगाहें काफी कुछ कह देती हैं. सोनी राजदान ने कहा, मैनें उस समय किसी को इस घटना के बारे में नहीं बताया क्योंकि मुझे लगा इससे मेरे परिवार को तकलीफ होगी.” बता दें इससे पहले विनता नंदा भी आलोकनाथ के खिलाफ यौन उत्पीड़न का आरोप लगा चुकी हैं.