#MeToo कैपेंन के बाद से इंडस्ट्री में बवाल मच गया है. इसी बीच बिग बॉस की एक्स कंटेस्टेंट और विनर शिल्पा शिंदे का भी बयान आया है. शिल्पा ने कहा कि “जो भी चीजें इंडस्ट्री में हो रही हैं, वह आपसी सहमति के आधार पर होती हैं. उन्होंने कहा, ‘महिलाएं अब बोलने लगी हैं, लेकिन उस वक्त भी मैंने कहा था कि इंडस्ट्री में रेप नहीं होते, जबरदस्ती नहीं होता. जो भी हमारी इंडस्ट्री में हुआ है, वह आपसी समझ से होता है” #MeToo इफेक्ट: अक्षय कुमार ने मानी ट्विंकल की बात, साजिद की हाउसफुल 4 की शूटिंग कैंसल की Also Read - केरल में हैरान करने वाला वाकया, 17 साल की लड़की से रेप, यौनउत्‍पीड़न पर 44 पुरुषों पर केस दर्ज

Also Read - Bigg Boss 14 Updates Eijaz Khan Eliminated Confirm! बिग बॉस के घर से बाहर हुए एजाज खान! ये था बड़ा कारण

‘बिग बॉस 11’ की विनर शिल्पा ने कहा जिस वक्त इस तरह की घटनाएं घटती हैं उसी वक्त आवाज उठानी चाहिए और ऐसा सिर्फ फिल्म इंडस्ट्री में ही नहीं बल्कि सभी जगह होता है. एक वेबसाइट के मुताबिक शिल्पा ने कहा कि ये सबक मैंने भी सीखा है. जो हो उसी वक्त बोल दो. बाद में बोलने से कोई फायदा नहीं होता. शिल्पा ने कहा, ‘मेरे टाइम पर तो कुछ कलाकारों ने मुझे बोलने ही नहीं दिया था. मैंने अपनी लड़ाई लड़ी और अकेले अपने दम पर लड़ी. अभी जो भी हो रहा है और CINTAA वाला जो चल रहा है सब बकवास है.’ Also Read - यूपी: सब्जी खरीदने निकली 12वीं की छात्रा का शव पेड़ से लटकता मिला, एक लड़का...

शिल्पा ने कहा ऐसा नहीं है कि इंडस्ट्री में सभी लोग खराब है. ये आप पर निर्भर करता है कि सामने वाला इंसान कैसे रिएक्ट करे और आप उसके रिएक्शन का कैसे जवाब देते हो. यह पूरी तरह से गिव ऐंड टेक पॉलिसी से जुड़ा है.

#metoo अभियान में अभी तक कई नाम जुड़ चुके हैं. अपने साथ हुए यौन शोषण के मामले में अब महिलाएं खुलकर बोल रही हैं. लगभग हर रोज ही एक नया नाम सामने आता है और हैरान कर जाता है. भारत में भी ये अभियान अब रफ्तार पकड़ चुका है. नाना पाटेकर, विकास बहल, आलोक नाथ, रजत कपूर, कैलाश खेर, साजिद खान जैसे कई बड़े कलाकारों के नाम सामने आए हैं.

बॉलीवुड और मनोरंजन जगत की ताजा ख़बरें जानने के लिए जुड़े रहें  India.com के साथ.