मुम्बई: ‘फिल्मिस्तान’ से मशहूर हुए निर्देशक नितिन कक्कड़ का कहना है कि उनकी अगली फिल्म ‘मित्रों’ का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से कोई लेना देना नहीं है. बता दें कि प्रधानमंत्री मोदी अपने भाषणों की शुरूआत मित्रों सम्बोधन के साथ करते हैं और यह शब्द उनके भाषणों से जुड़ गया है. Also Read - Cyclone Nisarga: प्रधानमंत्री ने की महाराष्ट्र, गुजरात के मुख्यमंत्रियों से बात, हर संभव मदद का दिया भरोसा

Also Read - Cyclone Nisarga: क्या है चक्रवात 'निसर्ग', जानिए कैसे पड़ा इसका नाम

राधिका आप्टे की ट्विटर पर उड़ी जमकर खिल्ली, Netflix के भी लोगों ने लिए मजे Also Read - Cyclone Nisarga: महाराष्ट्र और गुजरात में भेजी गई हैं NDRF की 33 टीमें, पीएम बोले- सावधानी बरतें लोग

निर्देशक निकिन कक्कड़ का कहना है कि हमारी फिल्म दोस्ती के बारे में है और इसकी कहानी गुजरात में बुनी गई है, इसलिए परिधान, सेट, संवाद की पृष्ठभूमि भी गुजराती हैं. इसी तरह गुजराती में दोस्तों को मित्रा या मित्रों कहते हैं. नरेंद्र मोदी के साथ इसका कोई लेना-देना नहीं है. हम उनके पद का सम्मान करते हैं और किसी भी प्रकार के प्रचार के सस्ते तरीके की हमारी मंशा नहीं है. वह अक्सर इस शब्द का प्रयोग करते हैं और फिर वह भी तो गुजरात से हैं. यह फिल्म तेलुगू फिल्म ‘पेली चोपूलु’ का रीमेक है.

ट्रेलर के बाद ‘पटाखा’ का पहला गाना रिलीज, मस्त अंदाज में नजर आई दोनों बहनें

फिल्म के 14 सितंबर को रिलीज होने की उम्मीद

उन्होंने कहा कि जब आप पहले से बनी हुई किसी चीज को लेते हैं, तो भी यह कहानी नये तौर पर दिखाई जाती है. सांस्कृतिक तौर पर चीजें बदलती हैं लेकिन पात्र वही रहते हैं. कई अलग-अलग भाषाओं में फिल्म फिर से बनाना चुनौतीपूर्ण और मुश्किल होने के साथ ही रोमांचक था. आमतौर पर, रीमेक को व्यावसायिक दृष्टिकोण से सुरक्षित माना जाता है, लेकिन निर्देशक का कहना है कि एक सुरक्षित फिल्म बनाने के लिए यह कोई मानक नहीं है. अगर कोई पटकथा आपको रोमांचित करती है तो फिल्म बनानी चाहिए. सफलता की गारंटी केवल कड़ी मेहनत दे सकती है. फिल्म में जैकी भगनानी और कृतिका कामरा की मुख्य भूमिकाएं हैं. फिल्म 14 सितंबर को रिलीज होने की उम्मीद है.

बॉलीवुड और मनोरंजन जगत की ताजा ख़बरें जानने के लिए जुड़े रहें  India.com के साथ.