मुम्बई: ‘फिल्मिस्तान’ से मशहूर हुए निर्देशक नितिन कक्कड़ का कहना है कि उनकी अगली फिल्म ‘मित्रों’ का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से कोई लेना देना नहीं है. बता दें कि प्रधानमंत्री मोदी अपने भाषणों की शुरूआत मित्रों सम्बोधन के साथ करते हैं और यह शब्द उनके भाषणों से जुड़ गया है. Also Read - Board Exam 2021 Canceled: इस राज्‍य में 10वीं Board Exam रद्द, सभी स्‍टूडेंट अगली क्‍लास में होंगे प्रमोट

Also Read - कोरोना: ऑक्सीजन और दवाओं की आपूर्ति पर पीएम मोदी ने बुलाई उच्च स्तरीय बैठक, PMO ने दी अहम जानकारी

राधिका आप्टे की ट्विटर पर उड़ी जमकर खिल्ली, Netflix के भी लोगों ने लिए मजे Also Read - Petrol- Diesel Prices Today 10 May 2021: डीजल- पेट्रोल के भाव बढ़े, देखें आज के रेट

निर्देशक निकिन कक्कड़ का कहना है कि हमारी फिल्म दोस्ती के बारे में है और इसकी कहानी गुजरात में बुनी गई है, इसलिए परिधान, सेट, संवाद की पृष्ठभूमि भी गुजराती हैं. इसी तरह गुजराती में दोस्तों को मित्रा या मित्रों कहते हैं. नरेंद्र मोदी के साथ इसका कोई लेना-देना नहीं है. हम उनके पद का सम्मान करते हैं और किसी भी प्रकार के प्रचार के सस्ते तरीके की हमारी मंशा नहीं है. वह अक्सर इस शब्द का प्रयोग करते हैं और फिर वह भी तो गुजरात से हैं. यह फिल्म तेलुगू फिल्म ‘पेली चोपूलु’ का रीमेक है.

ट्रेलर के बाद ‘पटाखा’ का पहला गाना रिलीज, मस्त अंदाज में नजर आई दोनों बहनें

फिल्म के 14 सितंबर को रिलीज होने की उम्मीद

उन्होंने कहा कि जब आप पहले से बनी हुई किसी चीज को लेते हैं, तो भी यह कहानी नये तौर पर दिखाई जाती है. सांस्कृतिक तौर पर चीजें बदलती हैं लेकिन पात्र वही रहते हैं. कई अलग-अलग भाषाओं में फिल्म फिर से बनाना चुनौतीपूर्ण और मुश्किल होने के साथ ही रोमांचक था. आमतौर पर, रीमेक को व्यावसायिक दृष्टिकोण से सुरक्षित माना जाता है, लेकिन निर्देशक का कहना है कि एक सुरक्षित फिल्म बनाने के लिए यह कोई मानक नहीं है. अगर कोई पटकथा आपको रोमांचित करती है तो फिल्म बनानी चाहिए. सफलता की गारंटी केवल कड़ी मेहनत दे सकती है. फिल्म में जैकी भगनानी और कृतिका कामरा की मुख्य भूमिकाएं हैं. फिल्म 14 सितंबर को रिलीज होने की उम्मीद है.

बॉलीवुड और मनोरंजन जगत की ताजा ख़बरें जानने के लिए जुड़े रहें  India.com के साथ.