अभिनेता मोहनीश बहल का कहना है कि ऐतिहासिक पृष्ठभूमि पर आधारित आशुतोष गोवारिकर की हालिया रिलीज फिल्म ‘पानीपत’ में उनके निभाए गए किरदार को खूब सराहा जा रहा है. उनका यह भी कहना है कि जब किसी के काम को सराहना मिलती है तो उसका एहसास काफी ‘बेहतरीन’ होता है.

Bigg Boss 13: Arhaan Khan की एक्स गर्लफ्रेंड का खुलासा, रश्मि ने सब जानते हुए इस वजह से किया नाटक

अर्जुन कपूर, संजय दत्त और कृति सैनन द्वारा अभिनीत इस फिल्म में मोहनीश ने नानासाहेब पेशवा की भूमिका निभाई है. फिल्म की कहानी पानीपत की तीसरी लड़ाई पर आधारित है, जो 14 जनवरी, 1761 में मराठाओं और अफगान शासक अहमद शाह अब्दाली के बीच लड़ी गई थी.

मोहनीश ने कहा, “मुझे जिस तरह से सराहना मिल रही है उसे देखने का एहसास बेहतरीन है. ‘पानीपत’ काम करने के लिए एक शानदार फिल्म थी. शूटिंग करते वक्त अर्जुन कपूर, कृति सैनन और पद्मिनी कोल्हापुरे संग अच्छा वक्त बीता.”

फिल्म में अर्जुन ने सदाशिव राव भाऊ के किरदार को निभाया है, जिन्होंने अब्दाली के खिलाफ मराठाओं का नेतृत्व किया. अब्दाली के किरदार को संजय दत्त ने निभाया है, जबकि कृति सदाशिव की पत्नी पार्वती बाई के किरदार में हैं.

मोहनीश ने आगे कहा, “दुर्भाग्यवशत: मुझे संजू (संजय दत्त) के साथ स्क्रीन शेयर करने का मौका नहीं मिला, लेकिन मुझे आशु (आशुतोष गोवारिकर) के साथ काम करने की खुशी है, जो कि एक अभूतवपूर्व निर्देशक हैं और साथ ही सुनीता गोवारिकर (आशुतोष गोवारिकर की पत्नी और फिल्म की निर्माता) के साथ भी काम कर अच्छा लगा. वह एक काफी अच्छी इंसान हैं.”