फिल्म का नाम: गेस्ट इन लंदन
डायरेक्टर: अश्विनी धीर
स्टार कास्ट: कार्तिक आर्यन, परेश रावल, कृति खरबंदा, तनवी आजमी
अवधि: 2 घंटा 18 मिनट
सर्टिफिकेट: U/A
रेटिंग: 2.5 स्टार

इस दौड़ भाग की जिंदगी में जहां हमारे पास खुद के लिए वक्त निकालना मुश्किल हो जाता है वहां बिनबुलाए मेहमान एक सिरदर्द के आलावा कुछ नहीं होते. फिल्म का ट्रेलर देखने के बाद आप भी यही समझेंगे. लेकिन वाकई फिल्म में रिश्तों की अहमियत समझने के लिए काफी कुछ है. ‘वन टू थ्री’, ‘सन ऑफ सरदार’ और ‘अतिथि तुम कब जाओगे’ जैसी फिल्मों को डायरेक्ट कर चुके डायरेक्टर अश्विनी धीर ने ‘गेस्ट इन लंदन’ के जरिए मेहमानों  के खट्टे मीठे अनुभव बताने की कोशिश की है. 

कहानी: फिल्म की कहानी लंदन बेस्ड है, जहां आर्यन ग्रोवर (कार्तिक आर्यन) और अनाया पटेल (कृति खरबंदा) लंदन में जमने के लिए फेक शादी करने का नाटक करते हैं. और दूसरों को दिखाने के लिए साथ रहने लगते हैं. तभी उनके घर अचानक दूर के एक चाचा (परेश रावल) और चाची (तनवी आजमी) और बिनबुलाए मेहमान की तरह घर आ टपकते हैं. जिनकी वजह से कपल परेशान हो जाता है. उनकी जिंदगी में काफी बदलाव आने लगते हैं. हर चीज में टोका-टाकी से परेशान होकर कपल इन्हें घर से निकालने का फैसला करता है. लेकिन जब उन्हें इनकी असलियत पता चलती है तब. तब क्या होता है. यहीं से तो शुरु होती है असल कहानी. ज्यादा बताकर हम आपका मजा खराब नहीं करेंगे. देखिए फिल्म का ट्रेलर


कमजोर कड़िया- फिल्म की कहानी को और बेहतर बनाया जा सकता था. हालांकि फिल्म में सभी तरह का मसाला डालने की कोशिश की गई है. लेकिन कहीं न कहीं घिसे-पिटे चुटकुलों से आप हंस नहीं पाते. और सबसे बड़ी बात परेश रावल एक पंजाबी किरदार में हैं. लेकिन बोलने से साफ झलक जाता है कि वे गुजराती हैं. कहीं भी उनका पंजाबी लहजा सुनने को नहीं मिला है. फिल्म में ऐसा कोई गाना भी नहीं है जिसे याद रखा जा सके या जो कहानी को आगे बढ़ाते हों.

स्क्रीनप्ले– फिल्म की शूटिंग लंदन में हुई है. वहां के अच्छे- अच्छे नजारे देखने फिल्म में देखने को मिलेंगे. ईस्ट और वेस्ट का कल्चर अच्छे ढंग से फिल्माया गया है. खासतौर पर फिल्म का क्लाइमैक्स काफी अच्छा है. आपको इमोशनल कर देगा. इसमें वर्ल्ड ट्रेड सेंटर जैसी सच्ची घटना का भी जिक्र किया गया है. जोकि वाकई रुला देगा.

क्या देखें- सभी किरदारों ने अच्छा अभिनय किया है. संजय मिश्रा का मुसलमान किरदार में जंच रहे हैं. भारत और पाकिस्तान पर बनाए गए जोक का भी कहानी को जोड़ने में अच्छी तरह से यूज किया गया है. अजय देवगन का कैमियो रोल भी आपको सरप्राइज करता है. परेश रावल के बोले गए कुछ डायलॉग मन को छू जाते हैं. जैसे. जब उनसे पूछा जाता है कि आपकी बीवी खान है. तब वे कहते हैं. उन्होंने एक खान से नहीं एक इंसान से शादी की है. फिल्म में अगर बिनबुलाए मेहमान से होने वाली परेशानियों को बताया है तो उनसे होने वाली रौनक को भी समझाया गया है.

गेस्ट इन लंदन के साथ श्रीदेवी की फिल्म मॉम भी रिलीज हो रही है. इंग्लिश विंग्लिश के लंबे समय के बाद उनकी ये फिल्म आ रही हैं. देखना दिलचस्प होगा किस फिल्म का पलड़ा कितना भारी रहता है.