नई दिल्ली: बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड केस (Sushant Singh Rajput Suicide Case) की जांच ने अब तेज़ी पकड़ ली है. बिहार पुलिस ने भी मुंबई पहुंचकर अपना काम शुरू कर दिया है. हर रोज़ इस मामले में कुछ नया सामने भी आ रहा है. अब मुंबई के पुलिस आयुक्त परम बीर सिंह ने कहा कि मरहूम सुशांत सिंह राजपूत के घर पर 13 जून को कोई पार्टी नहीं हुई थी. 14 जून को सुशांत के कथित तौर पर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी. गौरतलब है कि ऐसी अटकलें लगाई जा रहीं थी कि सुसाइड के एक दिन पहले दिवंगत अभिनेता के घर पार्टी हुई थी लेकिन पुलिस आयुक्त के बयान ने इस बहस पर विराम चिन्ह लगा दिया है. Also Read - सुशांत सिंह राजपूत मौत केस से ध्यान भटकने पर शेखर सुमन बोले- 'ड्रगीज को मरने दो, हमें ये बताओ.....'

परम बीर सिंह ने कहा, “मुम्बई पुलिस इस मामले की गम्भीरता से जांच कर रही है. हमने हर एक कोण खंगाल रहे हैं. हमने इस सिलसिले में सुशांत के परिजनों, दोस्तों, डॉक्टर एवं अन्य लोगों के बयान लिए हैं. इसके अलावा हमने सुशांत के बैंक खातों से ट्रांजेक्शन को भी खंगाला है.” यह पूछे जाने पर कि जैसा कि सोशल मीडिया पर काफी जोर-शोर है कि इस मामले में महाराष्ट्र की कोई बड़ी राजनीतिक हस्ती शामिल लगती है, इस पर सिंह ने कहा कि अब तक की जांच से ऐसा कोई तथ्य सामने नहीं आया है. Also Read - NCB के सामने पेश होने को शूटिंग छोड़ गोवा से मुंबई पहुँचीं दीपिका पादुकोण, लेकिन...

बता दें कि सुशांत के कथित आत्महत्या मामले की जांच के लिए लगातार आगे बढ़ रही बिहार पुलिस ने सीआरपीसी की धारा 160 के अंतर्गत सुशांत के मित्र दीपेश और सिद्धार्थ पिठानी को नोटिस भेजा था. इसके बाद दीपेश रविवार की रात बिहार पुलिस के सामने हाजिर हुए जबकि सिद्धार्थ ने भी पुलिस से संपर्क किया है. Also Read - रिया चक्रवर्ती फिलहाल जेल में ही रहेंगी, बेल अर्ज़ी पर सुनवाई टली, मिली एक और तारीख़

पटना रेंज के पुलिस महानिरीक्षक संजय सिंह ने सोमवार को बताया कि रविवार को सीआरपीसी की धारा 160 के तहत दोनों को नोटिस भेजा गया था तथा दोनों को नोटिस के तहत आमने-सामने बैठकर बयान दर्ज कराने को कहा गया था. दीपेश रात को बिहार पुलिस के समक्ष हाजिर हो गए लेकिन सिद्धार्थ का आना बाकी है.