हिंदी सिनेमा को शुरूआती दौर में जिन अभिनेत्रियों ने एक अलग उंचाई दी है उनमें एक नाम उस दौर की खूबसूरत एक्ट्रेस नरगिस का भी है. हिंदी सिनेमा को शुरूआती दौर में जिन अभिनेत्रियों ने एक अलग उंचाई दी है उनमें एक नाम उस दौर की खूबसूरत एक्ट्रेस नरगिस का भी है. बॉलीवुड वेटरन एक्ट्रेस नरगिस दत्त की आज पुण्यतिथि है. नरगिस दत्त का निधन 2 मई 1981 को मुंबई में हुआ था. नरगिस ने भले ही सुनील दत्त से शादी की हो, लेकिन उनका राज कपूर से चला अफेयर बेहद चर्चा में रहा. नरगिस के अभिनय का जादू कुछ ऐसा था कि साल 1968 में जब बेस्ट एक्ट्रेस के लिए पहले फ़िल्मफेयर अवॉर्ड देने की बारी आई तो उन्हें ही चुना गया. नरगिस के साथ राज कपूर ने 16 से ज्यादा फिल्मों में काम किया था. राज और नरगिस की पहली मुलाकात एकदम फिल्मी थी.

परिणीति चोपड़ा का फोन लेकर ये हरकत करते हैं अर्जुन कपूर, एक्ट्रेस को आता है गुस्सा?

साल 1948 में नरगिस 20 साल की थी और वो 8 फिल्मों में काम कर चुकी थी तो वहीं राज कपूर अपनी पहली फिल्म के लिए स्टूडियो की तलाश कर रहे है थे. उस समय उन्हें पता चला कि नरगिस की मां जद्दनबाई फेमस स्टूडियो में रोमियो एंड जूलियट की शूटिंग कर रही है. राज कपूर उस स्टूडियो में मौजूद सुविधाओं के बारे में जानना चाहते थे. इसलिए वो जद्दनबाई से मिलने उनके घर गए. राज कपूर जब उनके घर पहुंचे तो दरवाजा नरगिस ने खोला. नर्गिस उस वक़्त पकौड़े बना रहीं थीं, उनके हाथों के साथ-साथ उनके बालों में भी बेसन लगा हुआ था. नरगिस के इस अंदाज को देख राज कपूर उन पर अपना दिल हार बैठे. जिसके बाद राज कपूर ने फिल्म बॉबी में ऐसा ही हुबहू सीन ऋषि कपूर और डिंपल कपाड़िया के ऊपर फिल्माया.

नरगिस और राज शादी करना चाहते थे. लेकिन राज कपूर के पिता पृथ्वीराज कपूर और नरगिस की मां जद्दनबाई इसके सख्त खिलाफ थे. समय के साथ-साथ दोनों के दरमियां गलतफहमियां बढ़ीं और इनके रिश्ते में दरार पड़ने लगी. कहा तो ये भी जाता है कि एक दिन नरगिस ने राज के साथ कहीं बाहर जाने का प्लान बनाया. वह अपने घर पर ही उनका इंतजार कर रही थीं. जब राज नहीं आए तो नरगिस को चिंता सताने लगी और वो उन्हें ढूंढते हुए राज के घर जा पहुंची. वहां जाकर उन्होंने देखा कि कोई पार्टी चल  रही है. पार्टी में भी राज को न देखकर नरगिस परेशान हो गई. तभी किसी ने बताया कि राज कपूर अपने बेडरूम में हैं. नरगिस के कदम जल्दी से बेडरूम की तरफ मुड़ गए. वहां उन्होंने जो देखा वो हैरान कर देने वाला था. दरअसल, राज अपनी पत्नी के साथ सोफे पर बैठे थे और उनके गले में हार पहना रहे थे. बस, उस दिन नरगिस ने फैसला किया कि वो अब राज से कभी नहीं मिलेंगी क्योंकि जिस रिश्ते का कोई भविष्य नहीं हो उसे रखकर कोई फायदा नहीं है

आखिर में नरगिस ने सुनील दत्त से शादी कर ली और राज ने कृष्णा कपूर से.राज कपूर का वैजयंतीमाला के साथ अफेयर भी सुर्खियों में रहा. पत्नी के अफेयर के बारे में पता चलने के बावजूद उन्होंने वैजयंतीमाला से रिश्ता खत्म नहीं किया. लेकिन राज कपूर और नरगिस के रिश्ते को सबसे ज्यादा अटेंशन मिला.

राज कपूर और नरगिस के बारें में कई किस्से सुनने और पढ़ने को मिलते रहे है. लेकिन पुख्ता रूप से सही क्या है ये नहीं कहा जा सकता. राज कपूर के बेटे ऋषि कपूर ने भी अपनी किताब में खुल्लम खुल्ला इस बात का जिक्र किया कि मेरे पिता राज कपूर ने अपनी गर्लफ्रेंड के साथ कई हिट फिल्मों में काम किया. आग, बरसात और आवारा में वो मेरे पिता के साथ मुख्य भूमिका में थी. ये बात भी एक संयोग है कि 1 जून को नरगिस का जन्मदिन आता है और 2 जून को राज कपूर इस दुनिया को छोड़कर चले गए.

 

बॉलीवुड और मनोरंजन जगत की ताजा ख़बरें जानने के लिए जुड़े रहें  India.com के साथ.