Nawazuddin Siddiqui Birthday: बॉलीवुड की दुनिया में ऐसे कई कलाकार हैं जिन्हें उनकी कलाकारी और अदाकारी की वजह से याद किया जाता है मगर इसी इंडस्ट्री में ऐसे बहुत कम एक्टर्स हैं जिनकी अदाकारी के साथ साथ शख्सियत के भी लोग मुरीद हैं. इसी फेहरिस्त का एक जगमगाता नाम नवाज़ुद्दीन सिद्दीक़ी (Nawazuddin Siddiqui) है. हिंदी सिनेमा जगत के इस स्तंभ का आज जन्मदिन है. Also Read - Nawazuddin Siddiqui की 'Ghoomketu' हुई ऑनलाइन लीक, फ्री में डाउनलोड हो रही है फिल्म, Tamilrockers की करतूत

19th May 1974 को उत्तर प्रदेश के मुज़फ्फरनगर डिस्ट्रिक्ट के एक छोटे से गाँव बुढ़ाना में जन्मे नवाज़ुद्दीन ने इस दुनिया को मेहनत, लगन और सब्र का मतलब समझा दिया. बचपन से ही आर्थिक तंगी झेलने वाले नवाज़ ने अपने गाँव से बाहर निकलने का मन बना लिया था. हरिद्वार में गुरुकुल कंगरी विश्वविद्यालया से अपनी केमिस्ट्री में बीएससी की पढाई पूरी करने के बाद नवाज़ वडोदरा, गुजरात में एक कम्पनी में बतौर केमिस्ट काम करने लगे लेकिन कहते है न एक कलाकार को अपनी ज़मीन की समझ होती है और वो इसी ज़मीन को ढूंढ़ने में अपनी ज़िंदगी का एक अहम हिस्सा गुज़ार देता है. Also Read - नवाजुद्दीन सिद्दीकी ने खोला राज, 'घूमकेतु' में मेरा अभिनय मेरे निजी जीवन का अनुभव दर्शाता है'

नवाज़ुद्दीन सिद्दीक़ी (Photo Courtesy: IANS)

नवाज़ुद्दीन ने इसके बाद दिल्ली का रुख किया और फिर कुछ वक़्त बाद साल 1996 में उन्होंने अपनी एक्टिंग की दुनिया को आबाद करने के लिए ‘नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा’ में दाखिला ले लिया. दिल्ली में कई साल गुज़ारने के बाद नवाज़ ने मुंबई जाने का फैसला किया. मुंबई में अपनी किस्मत आज़माने पहुंचे इस फौलादी जूनून वाले एक्टर ने कई सालों तक रिजेक्शन झेला. ज़िंदगी गुज़ारने के लिए उन्होंने वॉचमैन की नौकरी की. अपने हुनर पर भरोसा रखने वाले नवाज़ ने कई निराशाओं के बीच ख़ुद के हौसले को ज़िंदा रखा. ऐसा कहते है न हर बड़े एक्टर की कहानी कई छोटे किरदारों से सजकर बनती हैं. Also Read - नवाजुद्दीन से तलाक के बीच सामने आई आलिया सिद्दीकी के अफेयर की खबरें, सफाई में कही ये बात

नवाज़ुद्दीन सिद्दीक़ी (Photo Courtesy: Netflix)

साल 1999 में शूल फिल्म में वेटर और सरफरोश में मुखबिर के रोल से बॉलीवुड में कदम रखने वाले नवाज़ुद्दीन आज हिंदी सिनेमा जगत का एक गौरव हैं. तलाश, गैंग्स ऑफ वासेपुर-1, 2 और कहानी जैसी फिल्मों के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित इस एक्टर ने संघर्षों का एक पहाड़ तोड़ा है. अनुराग कश्यप की गैंग्स ऑफ वासेपुर में फैज़ल खान के किरदार ने नवाज़ की ज़िंदगी को सुलझा दिया. आज के वक़्त में नवाज़ुद्दीन दुनिया के ‘हाईएस्ट पेड एक्टर’ की लिस्ट में शामिल हैं.