एक ओर जहां अभिनेता नवाजुद्दीन सिद्दीकी अलग रह रहीं पत्नी अंजना द्वारा दायर कराए गए दुष्कर्म और धोखाधड़ी के पुलिस शिकायतों का सामना कर रहे हैं, वहीं दूसरी ओर उनके भाई शमास नवाब सिद्दीकी उनके बचाव में सामने आए हैं. शमास ने दावा किया है कि लगाए गए आरोप झूठे हैं और वह इस मामले को लेकर बॉम्बे हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाएंगे. अंजना द्वारा वसोर्वा पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराने के बाद शमास ने ट्वीट कर अपनी बात रखीं. Also Read - कभी मां नहीं बनेंगी कविता कौशिक बोलीं- अभी हम खाली जगह...

शमास ने अपने वेरीफाइड ट्विटर अकाउंट से ट्वीट किया, “मैं कभी भागा था ही नहीं, मैं अपनी अगली फिल्म की तैयारी कर रहा था और मेरे खिलाफ लगाए गए झूठे आरोपों पर माननीय बॉम्बे हाईकोर्ट ने रोक लगा दी. नवाजुद्दीन सिद्दीकी के खिलाफ भी लगाए गए आरोप झूठे हैं और हम इसके लिए भी माननीय बीएचसी (बांबे हाई कोर्ट) का रूख करेंगे. उसके साथ ही उन्होंने पोस्ट में हैशटैगसत्यमेवजयते भी टैग किया.” Also Read - Jacqueline Fernandez ने शेयर की हॉट तस्वीरें, इस मदहोशी में हर कोई कैद हो जाना चाहता है!

फिल्मकार ने अपने अलग ट्वीट में लिखा, “चाहे तो 10-12 झूठे केस कर दो, लेकिन मैं अपना 2.16 करोड़ तुमसे कोर्ट में लेकर ही रहूंगा, परिवार को भी झूठे केस में फंसाया जा रहा है और ये सजा मिल रही है 30 करोड़ की मांग पूरी न करने की. ” Also Read - Jaan Kumar Sanu की गलती के लिए पापा कुमार सानू ने माफी मांगी, बोले- पता नहीं इनकी मां ने....

शमास का यह ट्वीट उन खबरों के बाद सामने आया है, जिसमें कहा गया कि नवाजुद्दीन सिद्दीकी की पत्नी आलिया (जो अब अपना वास्तविक नाम अंजना आनंद किशोर पांडेय का इस्तेमाल करती है) ने अभिनेता के खिलाफ दुष्कर्म और धोखाधड़ी का आरोप लगाते हुए एक लिखित शिकायत दर्ज कराई है.

जूम टीवी एंटरटेनमेंट डॉट कॉम की बुधवार की रिपोर्ट के अनुसार, अंजना के वकील ने आधिकारिक बयान जारी किया था, जिसमें लिखा था, “मेरी मुवक्किल ने वसोर्वा पुलिस स्टेशन में दुष्कर्म, धोखाधड़ी और धोखे से उन्हें कानूनन शादी का विश्वास दिलाया गया और सहवास का कारण बनाने के लिए भारतीय दंड संहिता की धारा 375, 376 (के), 376 (एन), 420 और 493 के तहत नवाजुद्दीन सिद्दीकी के खिलाफ लिखित शिकायत दर्ज कराई है. उम्मीद है कि जल्द ही एफआईआर दर्ज की जाएगी.”

हाल ही में अंजना ने शमास के खिलाफ एक एफआईआर दर्ज की थी, जिसमें कथित तौर पर शमास पर छेड़छाड़ का आरोप लगाया गया था. शमास की अग्रिम जमानत याचिका 14 सितंबर को मुंबई की एक कोर्ट ने खारिज कर दी थी.

अंजना ने अपने असत्यापित ट्विटर अकाउंट से 14 सितंबर को ट्वीट किया था, “शमासुद्दीन सिद्दीकी की जमानत याचिका खारिज.”

अंजना ने 16 सितंबर को अपने ट्वीट में राष्ट्रीय महिला आयोग और मुंबई पुलिस आयुक्त के आधिकारिक अकाउंट्स को टैग करते हुए ट्वीट किया था, “प्राथमिकी 285-2020 में आरोपी शमास सिद्दीकी को हिरासत में लेकर पूछताछ के लिए तुरंत गिरफ्तार किया जाना चाहिए, शमास सिद्दीकी का राजनीतिक रसूख है. मुझे डर है कि वह भाग सकता है. कृपया मदद कीजिए. सत्र न्यायालय ने उनकी जमानत खारिज करते हुए महत्वपूर्ण टिप्पणियां की हैं.”

वहीं 21 सितंबर (सोमवार) को अंजना ने ट्वीट कर दावा किया था कि शमास लगभग एक हफ्ते से फरार है और वह गंभीर अपराधों के लिए पुलिस द्वारा वांछित है.

अंजना ने ट्वीट किया था, “शमास सिद्दीकी लगभग एक सप्ताह से फरार है और पुलिस उसकी तलाश में है. वह गंभीर अपराधों के लिए वांछित है. किसी को भी उसकी कोई जानकारी हो, कृपया साझा करें, ताकि उसे कोर्ट के आदेश के अनुसार हिरासत में पूछताछ के लिए विधिवत गिरफ्तार किया जा सके. कृपया सहायता कीजिए.”

अंजना के सोमवार के ट्वीट पर प्रतिक्रिया देते हुए, शमास ने अपने बुधवार शाम के ट्वीट में उल्लेख किया कि वह कभी भागे नहीं थे, अपनी अगली फिल्म के लिए तैयारी के लिए गए थे.

शमास, नवाजुद्दीन सिद्दीकी और तमन्ना भाटिया अभिनीत फिल्म ‘बोले चूड़ियां’ के साथ अपने बॉलीवुड निर्देशन की शुरुआत करने के लिए पूरी तरह तैयार हैं.