निर्देशक नितेश तिवारी ‘छिछोरे’ के बाद ‘रामायण’ पर तीन हिस्सों में मैराथन फीचर फिल्म सीरीज बनाने की प्रक्रिया में हैं. वह इस बारे में एकदम स्पष्ट हैं कि पवित्र महाकाव्य को बनाने में वह कोई बदलाव या छेड़छाड़ नहीं करने वाले हैं. तिवारी ने कहा कि उसमें बदलाव करना ‘मूर्खता’ होगी.

नींद में चलती हैं इलियाना, सुबह पैरों में रहते हैं घाव… फैंस ने कहा-भूतों का शिकार

तिवारी ने कहा, “जिस समय में हम जी रहे हैं, यह देखते हुए कि यह एक ऐसा धर्मग्रंथ है जो हर हिंदू परिवार का एक अभिन्न अंग है. उसमें किसी तरह का बदलाव करना मूर्खता होगी. यह एक दोषरहित कहानी है. अगर मैं इससे छेड़छाड़ करता हूं तो मैं मूर्ख हूं. यह ‘रामायण’ ठीक उसी तरह होगी, जैसा हम जानते हैं.”

Shakuntala Devi First Look: चमकीली साड़ी पहनकर ‘शकुंतला देवी’ बनी विद्या बालन, सुलझाएंगी बड़े से बड़ा सवाल

फिल्मकार का यह बयान तब सामने आया है, जब बीते सप्ताह कलर्स चैनल को सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय द्वारा ‘सिया राम के लव कुश’ शो के द्वारा विकृत धार्मिक जानकारी फैलाने को लेकर नोटिस भेजा गया था.

‘दंगल’, ‘छिछोरे’ के बाद ‘रामायण’ सीरीज तिवारी की महत्वाकांक्षी परियोजनाएं हैं.

ऐसा कहा जा रहा है कि मधु मंटेना द्वारा निर्मित ‘रामायण’ भारत की अब तक की सबसे महंगी फिल्म परियोजना है. इस फिल्म की लागत 600 करोड़ रुपये से अधिक होने का अनुमान है. इस परियोजना में तिवारी को दो साल का समय लग जाएगा.

 

View this post on Instagram

 

Keeping An Eye On London. @fukravarun #Chhichhore

A post shared by Nitesh Tiwari (@niteshtiwari22) on

फिल्मकार ने कहा, “मैं इसे देखते हुए बड़ा हुआ हूं और यह मेरी जिदगी का अहम हिस्सा रहा है. इस पर फिल्म बनाना मेरे लिए सम्मान की बात है. यह मेरा सपना पूरा होने जैसा है. मेरी प्रार्थनाओं का असर हो गया है.”

उन्होंने आगे कहा, “हम इसे तीन भागों में बनाएंगे, क्योंकि यह बहुत लंबी कहानी है. तीनों फिल्में एक के बाद एक थोड़े-थोड़े अंतराल पर रिलीज की जाएंगी.”

(इनपुट आईएनएस)

बॉलीवुड और मनोरंजन जगत की ताजा ख़बरें जानने के लिए जुड़े रहें  India.com के साथ.