नई दिल्ली. पीएम नरेंद्र मोदी के ऊपर बनी बायोपिक के चुनाव के बाद रिलीज होने की तैयारी शुरू कर दी गई है. सोमवार को केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और फिल्म ‘पीएम नरेंद्र मोदी‘ के मुख्य अभिनेता विवेक ओबेरॉय ने महाराष्ट्र के नागपुर में इस फिल्म के पोस्टर लॉन्च किए. अब इस फिल्म की पंचलाइन बदल दी गई है. फिल्म के पोस्टर पर लिखा गया है ‘आ रहे हैं दोबारा – पीएम नरेंद्र मोदी’. यही नहीं, फिल्म के नाम के नीचे मोटे अक्षरों में ‘अब कोई रोक नहीं सकता’ भी लिखा गया है. लोकसभा चुनाव के सातों चरणों के मतदान के बाद आए एग्जिट पोल में केंद्र में एक बार फिर भाजपा सरकार बनने के आसार के साथ ही एक्टर विवेक ओबेरॉय के इरादे बुलंद हैं. संभवतः इसीलिए फिल्म के नाम के साथ ये दोनों पंचलाइनें जोड़ी गई हैं.

लोकसभा चुनाव से जुड़ी खबरों के लिए पढ़ते रहें India.com

विवेक ओबेरॉय स्टारर बायोपिक ‘पीएम नरेंद्र मोदी‘ लोकसभा चुनाव से पहले ही रिलीज होने वाली थी. लेकिन कांग्रेस समेत कई विपक्षी दलों ने इसकी रिलीज रोकने को लेकर निर्वाचन आयोग में शिकायत की थी. अपनी शिकायत में विपक्षी दलों ने कहा था कि आम चुनाव से पहले इस तरह की फिल्म को रिलीज किया जाना भाजपा को परोक्ष रूप से फायदा पहुंचाने वाला है. पार्टियों ने यह भी कहा था कि चुनाव के बीच इस तरह की फिल्म को रिलीज किया जाना, आदर्श आचार संहिता का सरासर उल्लंघन है. कई विपक्षी दलों ने इस फिल्म को भाजपा की प्रोपेगेंडा फिल्म करार दिया था. हालांकि विवेक ओबेरॉय ने विपक्षी दलों की शिकायत को खारिज करते हुए कहा था कि यह प्रोपेगेंडा नहीं, बल्कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जीवन पर बनी फिल्म है. लेकिन चुनाव आयोग ने विवेक की दलीलों को दरकिनार कर दिया.

निर्वाचन आयोग की आपत्ति के बाद फिल्म स्टार विवेक ओबेरॉय ने ‘पीएम नरेंद्र मोदी’ बायोपिक को रिलीज करने को लेकर सुप्रीम कोर्ट से भी दरख्वास्त की थी. लेकिन कोर्ट ने इस मामले में चुनाव आयोग को फिल्म देखने के बाद उचित निर्णय लेने को कहा था. फिल्म देखने के बाद निर्वाचन आयोग ने इसकी रिलीज पर रोक लगा दी. साथ ही कहा कि चुनाव के बाद ही फिल्म को रिलीज किया जा सकता है. आयोग ने विपक्षी दलों की दलील को मानते हुए कहा था कि फिल्म के कथानक से सत्ताधारी पार्टी को परोक्ष रूप से चुनावों में मदद मिल सकती है. इसके बाद ही अब बायोपिक ‘पीएम नरेंद्र मोदी’ को रिलीज करने की तैयारी चल रही है. यह गौरतलब है कि इस फिल्म की रिलीज रोके जाने के बाद भाजपा ने लोकसभा चुनाव के लिए अपने स्टार प्रचारकों की लिस्ट में विवेक ओबेरॉय का नाम शामिल किया था. विवेक ओबेरॉय को पार्टी ने महाराष्ट्र और गुजरात में भाजपा के स्टार प्रचारकों की सूची में जगह दी थी.