देश की राजधानी दिल्‍ली के निजामुद्दीन मरकज में तबलीगी जमात में शामिल हुए लोगों में कोरोना वायरस के संक्रमण का मामला सोमवार को सामने आया था. जिसके बाद से लोगों में हड़कंप मच गया है. हर कोई यही सोच रहा है कि ये लोग ना जाने कितने ही राज्यों में गए होंगे और वहां के लोगों को संक्रमित किया होगा. दिल्ली में कोरोना वायरस का संक्रमण अभी तक समुदाय के स्तर पर नहीं पहुंचा है. लेकिन अब सरकार को चिंता है कि कहीं जमात के ये लोग इस संक्रमण को ना फैला दें. बड़ी धार्मिक सभा की अगुवाई करने वाले मौलाना पर भी केस दर्ज किया गया है. इसी बीच अभिनेता नवाजुद्दीन सिद्दीकी का कहना है कि ऐसा करने से कई जिंदगियां खतरे में पड़ गई हैं.Also Read - Monalisa Hot Photo Shoot: शॉर्ट ड्रेस में मोनालिसा का दिखा Bold अंदाज, देखें भोजपुरी एक्ट्रेस की कातिल अदाएं..

एक इंटरव्यू में नवाज़ ने कहा कि ये कौन लोग हैं जो सरकार की अपील का पालन नहीं कर रहे हैं. अगर सरकार ने कहा है लॉकडाउन तो इसका मतलब पूरी तरह से लॉकडाउन है. इसका धर्म से कोई लेना-देना नहीं है. इस खतरनाक वायरस से बचने का तरीका ना अपना कर आप खुद की जिंदगी को खतरे में डाल ही रहे हैं बल्कि दूसरों के जिंदगी से भी खेल रहे हैं. Also Read - Karisma Kapoor को याद आए पुराने दिन, वीडियो शेयर कर दिखाया 30 साल का सफर

तबलीगी कांड: SHO की नसीहत को अनसुना करने से दिल्ली में हुआ कोरोना का विस्फोट, Video जारीAlso Read - Surveen Chawla के कास्टिंग काउच का दर्द, बोलीं- बॉडी का एक-एक इंच देखना चाहता था डायरेक्टर, पांच बार...

दरअसल, दिल्ली में कोरोना मामलों में एकाएक विस्फोट हुआ है. वजह बताई जा रही है तबलीगी जमात. मरकज से जुड़े 24 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. 228 संदिग्ध मरीज दिल्ली के दो अस्पतालों में भर्ती हैं. तेलंगाना के छह लोगों की मौत कोरोना संक्रमण के चलते हो गई है.

Tablighi Jamaat – क्या है तबलीगी जमात
बताया जा रहा है कि कुछ दिन पहले ही दिल्ली के निजामुद्दीन में तबलीगी जमात का कार्यक्रम आयोजित हुआ था, जिसमें 400 के करीब लोग शामिल हुए थे. इस कार्यक्रम का नाम था मरकज तबलीगी जमात. तबलीगी का मतलब है अल्लाह के संदेशों का प्रचार करने वाला. जमात का मतलब होता है समूह. मरकज का अर्थ है मीटिंग की जगह. जो लोग तबलीगी जमात से जुड़े हैं, वे पारंपरिक इस्लाम को मानते हैं. इसी का प्रचार-प्रसार करते हैं. इसका मुख्यालय दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में है.