पुलिस ने शनिवार को कहा कि कलिंग सेना की धमकी के बाद ओडिशा में शाहरुख खान के दौरे के मद्देनजर पर्याप्त सुरक्षा बढ़ाई जाएगी. कलिंग सेना ने शाहरुख के चेहरे पर स्याही फेंकने की धमकी दी है. ओडिशा के एक संगठन कलिंग सेना ने 17 वर्ष पहले रिलीज हुई उनकी फिल्म ‘अशोका’ में इतिहास के साथ छेड़छाड़ करने के आरोप में अभिनेता के चेहरे पर स्याही फेंकने की धमकी दी है.

इसके साथ ही संगठन ने कलिंगा स्टेडियम में 27 नवंबर को पुरुष हॉकी विश्व कप के उद्घाटन के मौके पर उनके यहां आने पर काले झंडे दिखाने की धमकी दी है. भुवनेश्वर के डीसीपी अनूप साहू ने कहा कि हॉकी विश्व कप के दौरान हम शाहरुख खान के दौरे के लिए सुरक्षा के पर्याप्त इंतजाम करेंगे. हालांकि अभिनेता के कार्यक्रम के बारे में अभी पुष्टि होना बाकी है.

संगठन के प्रमुख हेमंत रथ ने शाहरुख से ‘अशोका’ में ओडिशा के लोगों की भावनाओं को ठेस पहुंचाने के लिए माफी मांगने की मांग की है. संगठन ने आरोप लगाया है कि कलिंग को गलत तरीके से दिखाकर फिल्म ने राज्य की संस्कृति और यहां के लोगों का अपमान किया है.


View this post on Instagram

Two many beautiful women..Too little time. Will be back NYC to savour their company & love again…soon.

A post shared by Shah Rukh Khan (@iamsrk) on

शाहरुख की आने वाली फिल्म जीरो को लेकर भी विवाद हो गया था. हालांकि बाद में जीरो फिल्म के निर्माताओं की ओर से दिए गए स्पष्टीकरण के बाद मामला शांत हुआ. विवाद ट्रेलर में एक दृश्य के कारण शुरू हुआ, जिसमें लगता है कि शाहरुख ने सिखों के धार्मिक प्रतीक कटका कृपाण अंडरवियर के नीचे पहन रखा है. दिल्ली के विधायक सिरसा ने मांग की कि इस दृश्य को तत्काल हटाया जाए.

फिल्म की पीआर टीम ने उन्हें लिखे पत्र में कहा कि फिल्म में कृपाण कहीं नहीं दिखाया गया है. पीआर टीम ने कहा कि चित्र में दिखाई देने वाली वस्तु एक कटार है और खालसा पंथ अपनाने वालों द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली कृपाण से उसका कोई लेना-देना नहीं है. जीरो फिल्म की टीम स्पष्ट करती है कि वे इस बारे में बिल्कुल सजग हैं कि सिख समुदाय की भावनाओं को कहीं से ठेस न पहुंचे. शाहरुख खान, अनुष्का शर्मा और कैटरीना कैफ की भूमिकाओं से सजी यह फिल्म 21 दिसंबर को रिलीज होने वाली है.