असम की फिल्म ‘विलेज रॉकस्टार’ को ऑस्कर 2019 के लिए एंट्री मिल चुकी है जिसके बाद से भारतीय दर्शक काफी खुश नजर आ रहे हैं. रीमा दास की राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता फिल्म ‘विलेज रॉकस्टार्स’ को अगले साल दिए जाने वाले 91वें अकादमी पुरस्कारों में विदेशी भाषा की सर्वश्रेष्ठ फिल्म की श्रेणी में भारत का प्रतिनिधित्व करने के लिए चुना गया है. Also Read - राखी सावंत ने अर्शी खान पर लुटाया प्यार, बोलीं- 'मेरी जान हैं...इन्हें ऑस्कर मिलना चाहिए'

फिल्म फेडरेशन ऑफ इंडिया (एफएफआई) ने शनिवार को इसकी घोषणा की. रीमा दास के असम स्थित अपने छायगांव की पृष्ठभूमि पर बनी ‘विलेज रॉकस्टार्स’ गरीब लेकिन अद्भुत बच्चों की कहानी है जो एक मजेदार जीवन जीते हैं. इसकी घोषणा एफएफआई की ऑस्कर पुरस्कार चयन समिति के अध्यक्ष एस वी राजेंद्र सिंह बाबू ने की.

फिल्म का वर्ल्ड प्रीमियर टोरंटो इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल (टीआईएफएफ) 2017 में हुआ था और 70 से अधिक प्रतिष्ठित अंतरराष्ट्रीय और राष्ट्रीय फिल्म महोत्सवों में यह फिल्म दिखाई जा चुकी है. संजय लीला भंसाली की ‘पद्मावत’, आलिया भट्ट अभिनीत ‘राजी’, रानी मुखर्जी अभिनीत ‘हिचकी’, शूजित सरकार की ‘अक्टूबर’, तबरेज नूरानी निर्देशित ‘लव सोनिया’, ‘तुमबाद’, ‘हल्का’, ‘कड़वी हवा’ और हाल में प्रदर्शित ‘मंटो’ उन 28 फिल्मों की लिस्ट का हिस्सा थी, जिसे अगले साल के ऑस्कर के लिये सौंपा गया था.

बता दें कि किसी भी भारतीय फिल्म ने अब तक ऑस्कर पुरस्कार नहीं जीता है. विदेशी भाषा की सर्वश्रेष्ठ फिल्म की श्रेणी में अंतिम पांच में जगह बनाने वाली आखिरी भारतीय फिल्म आशुतोष गोवारीकर निर्देशित ‘लगान’ थी. अमित मासुरकर निर्देशित और राजकुमार राव अभिनीत हिंदी फिल्म ‘न्यूटन’ पिछले साल ऑस्कर के लिए भारत की ऑफिशियल एंट्री थी.

(इनपुट भाषा)