Oscar nominations 2019: मासिक धर्म के कलंक के बारे में बनाई गई भारतीय पृष्ठभूमि की फिल्म ‘पीरियड, इंड ऑफ सेंटेंस’ को ऑस्कर के लिए नॉमिनेट किया गया है. इस फिल्म में वास्तविक पैडमैन ने काम किया है. मंगलवार को की गई घोषणा के मुताबिक, यह फिल्म डॉक्यूमेंटरी शॉर्ट सबजेक्ट श्रेणी के शीर्ष पांच नामित फिल्मों में शामिल है. अन्य नामित फिल्मों में ‘ब्लैक शीप’, ‘एंड गेम’, ‘लाइफबोट’ और ‘अ नाइट एट द गार्डन’ शामिल हैं. Also Read - सेनेट्री पैड बनाने वाली यूपी के इस गांव की महिलाओं पर बनी फिल्म ने जीता ऑस्कर, खुशी की लहर

Also Read - Twinkle Khanna does't support Period leave | पीरियड्स को लेकर ट्विंकल खन्ना ने दिया बड़ा बयान, कहा....

Image result for oscar awards, india.com Also Read - akshay kumar film padman new song sayaani shows how period is shameful | Padman: लड़की के 'सयानी' होने पर इस तरह किया जाता है शुद्धिकरण, देखकर आप भी माथा पीट लेंगे

‘पीरियड..’ के कार्यकारी निर्माता गुनीत मोगा हैं और सहनिर्माता मोगा की कंपनी सिख्या एंटरटेनमेंट है. यह कंपनी ‘द लंचबॉक्स’ और ‘मसान’ जैसी फिल्मों को समर्थन दे चुकी है.

इस उपलब्धि से उत्साहित मोगा ने  कहा, “हमने इसे बनाया है..हमने जो सोचा था, यह उससे आगे की चीज है.”

यह फिल्म भारत में गहराई तक पैठे मासिक धर्म के कलंक के खिलाफ महिलाओं की लड़ाई के बारे में है और यह वास्तविक जीवन के ‘पैडमैन’ अरुणाचलम मुरुगनाथन के कार्य पर रोशनी डालती है.

पुरस्कार विजेता ईरानी मूल के अमेरिकी फिल्मकार रायका जेहताबची द्वारा निर्देशित इस फिल्म का सृजन ‘द पैड प्रोजेक्ट’ नामक एक संस्था ने किया है. यह संस्था लॉस एंजेलिस के ओकवुड स्कूल के विद्यार्थियों के एक समूह और उनकी शिक्षिका मेलिसा बर्टन द्वारा स्थापित है.

26 मिनट की इस फिल्म में उत्तर भारत के हापुड़ की लड़कियों और महिलाओं तथा उनके गांव में लगाई गई एक पैड मशीन के साथ उनके अनुभवों को चित्रित किया गया है.

(इनपुट एजेंसी)

बॉलीवुड और मनोरंजन जगत की ताजा ख़बरें जानने के लिए जुड़े रहें  India.com के साथ.