अक्षय कुमार अपनी फिल्म पैडमैन के प्रमोशन में जी-जान से जुटे हुए हैं. इसी दौरान फिल्म की पूरी टीम का दिल्ली आना हुआ. इस फ‍िल्‍म का आइड‍िया अक्षय कुमार की पत्‍नी ट्व‍िंकल खन्‍ना का था. फिल्म का मुख्य किरदार अक्षय कुमार ने निभाया है. प्रमोशन के दौरान टीम के सभी सदस्यों ने पीरियड को लेकर अपने अनुभव और विचार मीडिया के साथ शेयर किए. Also Read - Forbes' highest paid actors 2020: अक्षय कुमार बने सबसे ज़्यादा कमाई करने वाले एक्टर, जानिए खान तिकड़ी का स्टेटस

Also Read - फिल्मों से लेकर एड में अक्षय कुमार का है बोलबाला, अब इस फर्म के बनाए गए ब्रांड एंबेसडर 

padman010 Also Read - सोनू सूद ने इस मामले में शाहरुख खान और अक्षय कुमार को छोड़ा पीछे, पता चला तो एक्टर खुद हो गए दंग

जब इंडिया.कॉम ने अक्षय कुमार से सवाल किया कि शहरों में तो लोग पैडमैन  फिल्म देखेंगे और शायद इसके जरिए इस विषय पर बात भी करेंगे लेकिन गांव और निचले तबके तक आप अपनी बात को कैसे पहुंचाएंगे?

सवाल के जवाब में अक्षय ने कहा, हमने उसके लिए भी पूरी व्यवस्था की है. हम लोगों तक अपनी बात पहुंचाने के लिए मीडिया का सहारा लेंगे. आम लोगों का सहारा लेंगे. हमारे लोग गांव में पेन ड्राइव के जरिए लोगों को इस फिल्म को दिखाने की व्यवस्था करेंगे. मैं चाहता हूं, लोग माहवारी को लेकर जागरूक हों. और इसके लिए हम सबको मिलकर मेहनत करनी होगी. सबको आवाज उठानी होगी. क्योंकि ये हमारी मां बहनों के स्वास्थ्य से जुड़ी बातें हैं. मेरी इस फिल्म का लक्ष्य पैसा कमाना नहीं है. अगर पैडमैन के बाद लोग पीरियड में बात भी करना शुरू करते हैं तो ये ही मेरी फिल्म की सफलता होगी.

Photo- India.com

Photo- India.com

वहीं दूसरी और जब ट्विंकल खन्ना से सवाल किया गया, क्या कभी अक्षय आपके लिए दुकान से पैड खरीद कर लाए हैं? जवाब में ट्विंकल ने कहा, हां बहुत बार. मेरे घर में ऐसी कोई समस्या नहीं है. जरूरत पड़ने पर कई बार अक्षय ने ऐसा किया है.

फिल्म बनाने से भी मुश्किल काम था अरुणाचलम को ढूंढ निकालना 

Padman: देश के कुछ हिस्सों में त्योहार की तरह मनाया जाता है 'पहला पीरियड'

Padman: देश के कुछ हिस्सों में त्योहार की तरह मनाया जाता है 'पहला पीरियड'

बातचीत के दौरान ट्व‍िंकल ने माना, बहुत चैलेंज‍िंग फ‍िल्‍म है, क्‍योंकि ये ऐसे व‍िषय पर बनी है ज‍िसपर बात करने से लोग शर्म मानते हैं. फिल्म बनाने में इतना वक्त नहीं लगा जितना की अरूणाचलम मुरूगनाथम को इस बात के लिए मनाने में कि वो उनकी जिंदगी पर फिल्म बनाना चाहती है. उन्हें ऐसा करने में करीब नौ महीने लगे, इतने में तो वो अपना तीसरा बच्चा पैदा कर सकती थीं.

Photo- India.com

Photo- India.com

कौन है अरुणाचलम मुरुगनाथम?

पैडमैन अरुणाचलम मुरुगनाथम की जिंदगी पर आधारित है कि कैसे मशीन बनाकर उन्होंने महिलाओं को सैनिटरी नैपकिन मुहैया कराया. फिल्म में पीरियड्स में होने वाली परेशानी को भी दिखाया गया है. केरल में जन्मे अरुणाचलम मुरुगनाथम ने एक इंटरव्यू में बताया, मुझे माहवारी के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं थी. एक दिन अचानक ही अपनी पत्नी को बहुत ही गंदा कपड़ा छिपाकर ले जाते देखा, तो उससे पूछ बैठा कि ये क्या है और क्यों ले जा रही हो? पत्नी ने डांटकर चुप कर दिया, लेकिन उस दिन मैं समझ गया था कि उस गंदे कपड़े का क्या इस्तेमाल होने वाला है. 

Exclusive: राधिका आप्टे ने क्यों कहा, लड़कियों को पीरियड शुरू हो जाने का जश्न मनाना चाहिए?

Exclusive: राधिका आप्टे ने क्यों कहा, लड़कियों को पीरियड शुरू हो जाने का जश्न मनाना चाहिए?

कपड़ा इतना गंदा था कि मैं उससे अपनी साइकिल पोंछने की हिम्मत भी नहीं जुटा सकता था, लेकिन तब मैंने ठान लिया था कि महिलाओं के स्वास्थ्य से जुड़ी इस समस्या के खातिर जरूर कुछ करना है. पैडमैन में राधिका, अक्षय की पत्नी का किरदार निभा रही हैं. फिल्म 9 फरवरी को सिनेमाघरों में रिलीज की जाएगी.