फिल्म पैडमैन के प्रमोशन के लिए दिल्ली आए अक्षय कुमार, राधिका आप्टे, ट्विंकल खन्ना, निर्देशक आर बाल्की और अरुणाचलम मुरुगनाथम ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की जिसमें उन्होंने फिल्म को लेकर अपनी सोच, अनुभव और उससे जुड़ी कई बातें शेयर की.

padman012

ट्विंकल खन्ना ने बताया जब उन्होंने माहवारी विषय पर काम करने की सोची तो सबसे पहले उन्हें अरुणाचलम मुरुगनाथम का ख्याल आया. लेकिन इस फिल्म को बनाना इतना मुश्किल नहीं था जितना की मुरुगनाथम यानी (मुरगे) को ढूंढना. वे किसी भी कीमत पर बात करने को भी तैयार नहीं थे. इतना ही नहीं, उन्हें ये तक पता नहीं था कि बॉलीवुड के मशहूर एक्टर अक्षय कुमार कौन हैं? बामुश्किल जब उन्हें किसी तरह खोजा गया और बताया गया कि हम उन पर फिल्म बनाना चाहते हैं ये बात सुनकर वो हैरान हो गए. और इस तरह मुरुगनाथम ने अपनी जिंदगी पर फिल्म बनाने की इजाजत हमें दे दी और इसका नतीजा आपके सामने है.

padman01

बातों के इस सिलसिले में इंडिया.कॉम ने राधिका आप्टे से सवाल किया- आपको पीरियड शुरू होने पर आपकी मां ने एक ग्रैंड पार्टी दी थी. आपको बहुत अच्छे गिफ्ट भी मिले थे. हमारे देश में कई ऐसी जगह हैं जहां लड़कियों के ‘सयानी’ होने पर जश्न मनाया जाता है. आप इसे किस तरह देखती हैं?

बेबाकी से सवाल का जवाब देते हुए राधिका ने कहा, हां, ये सही बात है. जब उन्हें पहली बार पीरियड आया था तो उन्हें उनके घर वालों ने एक घड़ी तोहफे के तौर पर दी थी. राधिका ने कहा कि उनके परिवार में ज्यादातर लोग पेशे से डॉक्टर हैं इसलिए घर में ऐसा माहौल नहीं था कि इस मुद्दे पर बात करने से हिचकिचाएं.और जहां तक जश्न की बात है, बिल्कुल मनाया जाना चाहिए. ये कोई रोग नहीं है, शारीरिक प्रकिया है, इसलिए मासिक धर्म के समय को सहजता से लेना चाहिए. इस पर उदास होने या शर्मिंदा होने की कोई बात मुझे नज़र नहीं आती. लड़की के सयानी हो जाने का जश्न इस फिल्म में भी दिखाया गया है देखिए एक नज़र ये गाना

अक्षय के साथ है पहली फिल्म

राधिका आप्टे की अक्षय कुमार के साथ ये पहली फिल्म है. पैडमैन में राधिका, अक्षय की पत्नी का किरदार निभा रही हैं. यह फिल्म अरुणाचलम मुरुगनाथम की जिंदगी पर आधारित है कि कैसे मशीन बनाकर उन्होंने महिलाओं को सैनिटरी नैपकिन मुहैया कराया. इस फिल्म में महिलाओं को पीरियड्स में होने वाली परेशानी को भी दिखाया गया है. ये फिल्म 9 फरवरी को सिनेमाघरों में रिलीज की जाएगी.