मुंबई: बॉलीवुड की दुनिया में अपनी अदाकारी के लिए मशहूर एक्टर पंकज त्रिपाठी के लिए कोई काम मुश्किल नहीं है. अभिनेता पंकज त्रिपाठी अभिनय के तमाम क्षेत्रों में अपनी प्रतिभा दिखा चुके हैं और अब क्वॉरेंटाइन के इन दिनों में वह अपने अंदर छिपे लेखक को बाहर लाने का प्रयास कर रहे हैं. कोरोनावायरस की कड़ी को तोड़ने के लिए देशभर में सरकार की ओर से बुलाए गए 21 दिनों के लॉकडाउन की वजह से अभिनेता पिछले एक सप्ताह अपने घर में ही बंद है. Also Read - Full Lockdown in Madhya Pradesh: कोरोना वायरस के चलते फिर से थमी मध्य प्रदेश की रफ्तार, राज्य में लागू हुआ टोटल लॉकडाउन

वह कहते हैं, “कलाकार अक्सर लेखन से जुड़े होते हैं, यहां तक कि अपनी परियोजनाओं में भी, जिसमें उन्हें सिर्फ अभिनय करना होता है. एक कलाकार के तौर पर, लेखक जो कहना चाह रहा है उस बात को हम अपनी बॉडी लैंग्वेज, अपनी कुशलता से पर्दे पर पेश कर दर्शकों से संवाद स्थापित करते हैं.” Also Read - TV दर्शकों के लिए बड़ी खुशखबरी, इन फेमस सीरियलों की शूटिंग दोबारा चालू, देखें सीधे सेट से खास Photos

वह आगे कहते हैं, “लेखन मेरे लिए एक रचनात्मक गतिविधि है और मैं ऐसा पटकथा लिखने के मकसद से बिल्कुल भी नहीं कर रहा हूं. अपनी इस कला को निखारने के लिए ही मैंने अपने विचारों को लिखना शुरू कर दिया है. मेरे मुताबिक लेखन और अभिनय एक-दूसरे से परस्पर जुड़े हुए हैं. मैं अपनी खुद की रचनात्मक तलाश को पूरा करने के लिए ही लिख रहा हूं. देखता हूं आखिरकार क्या निकलकर आता है और अगर मुझे इससे संतुष्टि मिलती है, तो देखूंगा कि आगे इसके साथ मैं और क्या कर सकता हूं.” Also Read - मिर्ज़ापुर के 'कालीन भैया' ने सुनाई अपनी ज़िंदगी की दांस्तां, बोले- अच्छा और बुरा वक़्त दोनों देखा है  

अभिनय की बात करें, तो आने वाले समय में पंकज ‘लूडो’ और ‘गुंजन सक्सेना : द कारगिल गर्ल’ जैसी फिल्मों में नजर आएंगे.