किसी को देखकर आपका दिल घायल हो गया हो या कोई उसे तोड़ कर चला गया हो. आशिकों के हर घाव की दवा का एक ही नाम है पंकज उधास. अपनी मखमली आवाज से इस गजल गायक ने ना जाने कितने ही घायल दिलों का इलाज किया होगा. आज उसी खूबसूरत आवाज के मालिक पंकज उधास का जन्मदिन हैं. 17 मई 1951 को गुजरात में जन्मे पंकज उधास को बचपन से संगीत का माहौल मिला. उनके दोनों बड़े भाई मनहर उधास और निर्मल उधास म्यूजिक फिल्ड से थे. इसलिए पंकज ने भी अपना कदम  संगीत की दुनिया में रखा. साल 1980 में पंकज उधास ने अपनी पहली एल्बम ‘आहट’ को लाया. लेकिन उन्हें असली पहचान मिली 1986 में आई महेश भट्ट की फिल्म ‘नाम’ से. इस फिल्म में पंकज ने ‘चिट्ठी आई है’ गीत क्या गुनगुनाया लोग उनके दीवाने हो गए. स फिल्म के गाने को आज 32 साल बाद भी जब पंकज उधास गाते हैं तो आंखें नम हो जाती हैं. Also Read - B'dy Special Video: दिशा पाटनी के बर्थडे पर टाइगर श्रॉफ ने किया खास अंदाज में विश, सामने आया एक्ट्रेस का रिएक्शन

Also Read - B'dy Special: जब गाना गाने के लिए पाकिस्तान चले गए थे मीका सिंह, सेरेमनी में शामिल था मोस्ट वॉन्टेड दाऊद इब्राहिम का परिवार

Also Read - B'dy Special: ढेरों फ्लॉप फिल्मों के बावजूद भी डिमांड में रहती हैं सोनम कपूर, ये तस्वीरें तो नहीं है वजह?

चिट्ठी आई है गाने को आनंद बख्शी ने लिखा था और कंपोज किया था लक्ष्मीकांत प्यारेलाल ने.इस गाने के बाद पंकज उधास को घायल, साजन, ये दिल्लगी, फिर तेरी कहानी याद आई और मोहरा जैसी कई फिल्मों के लिए गाने के ऑफर मिले.

पंकज उधास के एलबम स्टोलन मोमेंट्स का एक गाना आहिस्ता कीजिए बातें… भी काफी पॉपुलर हुआ. इस गाने के वीडियो में समीरा रेड्डी नजर आई थीं.

पंकज उधास के करियर की तरह ही उनकी लवस्टोरी भी बड़ी दिलचस्प रही है. दरअसल, पंकज और फरीदा एक दूसरे को बेहद प्यार करते थे. दोनों शादी भी करना चाहते थे. लेकिन उनके परिवार वालों को ये रिश्ता मंजूर नहीं था. दोनों परिवार की रजामंदी से ही शादी करना चाहते थे. जब पंकज मशहूर हुए तो एक बार फिर शादी की बात शुरू की. फरीदा के पिता एक सख्स रिटायर्ड पुलिस इंस्पेक्टर थे लेकिन उनके प्यार के आगे उन्हें भी नर्म होना पड़ा.

रंगमंच पर उनकी पहली परफार्मेंस भारत-चीन युद्ध के समय हुई थी जिसमें उन्होंने ‘ऐ मेरे वतन के लोगों’ गाना गाया था और उस वक्त उनकी घायकी से खुश होकर एक दर्शक ने उन्हें 51 रुपए का इनाम दिया था.

राजकपूर और पंकज उधास का एक किस्सा बताया जाता है. ‘चिट्ठी आई है’ गाने की रिलीज से पहले किसी दोस्त ने राज कपूर को डिनर पर घर बुलाया था और पंकज उधास का यही गाना चला दिया. गाना सुनते ही राज कपूर की आंखों में आंसू आ गए थे.

 

बॉलीवुड और मनोरंजन जगत की ताजा ख़बरें जानने के लिए जुड़े रहें  India.com के साथ.