मुंबई: अभिनेता विद्युत जामवाल (Vidyut Jamwal) ने अपनी फिल्म ‘Commando 3’ को लेकर उठे विवाद पर कहा कि विवाद और तकरार फिल्म जगत का हिस्सा है. कुछ वर्गो द्वारा उनके फिल्म के कुछ दृश्यों पर उठाए गए सवाल को लेकर उन्होंने आगे कहा कि उनका उद्देश्य लोगों की भावनाओं को आहत करना नहीं था. ‘कमांडो 3’ के एक दृश्य में कुछ पहलवानों द्वारा स्कूली छात्राओं का उत्पीड़न करते हुए दिखाया गया है, जिस पर विवाद खड़ा हुआ है.

कई लोगों ने फिल्म की आलोचना करते हुए इस पर पहलवानों की गलत छवि पेश करने का आरोप लगाया है. लोकप्रिय भारतीय पहलवान सुशील कुमार ने भी उस दृश्य पर आपत्ति जताई है, जिसमें पहलवान एक स्कूली छात्रा का उत्पीड़न इसलिए करते हैं, क्योंकि छात्रा ने स्कर्ट पहन रखा है.

Marrakech International Film Festival: प्रियंका चोपड़ा को मिला बड़ा सम्मान, भावुक होकर कह दी ये बात

‘कमांडो 3’ की सफलता पर अपने सह कलाकार गुलशन देवैया के साथ मीडिया से मुखातिब होने के दौरान एक महिला मीडियाकर्मी ने उनसे पूछा कि ये विवाद कहीं फिल्म के फायदे के लिए तो नहीं खड़ा किया, इस पर विद्युत ने कहा, “जब पाकिस्तान बम फेंकता है तो मुझे यह समझ नहीं आता कि मीडिया ये क्यों पूछता है कि ये गलत है या सही है. लोग मारे जाते हैं और आप पूछते हैं कि आपको कैसा लग रहा है? मेरे ख्याल से ऐसे प्रश्न काफी भद्दे हैं, मुझे काफी बुरा लग रहा है.”

अभिनेता ने आगे कहा, “अब आप मुझसे पूछ रहे हैं कि इस विवाद से फिल्म को फायदा हो रहा है या नहीं. हम अपनी फिल्म को फायदा पहुंचाने के लिए ऐसी चीजें नहीं करते हैं. मेरा मानना है कि विवाद फिल्म जगत का हिस्सा रहा है. इसलिए मैं आपके प्रश्न से सहमत नहीं हूं.”