मुंबई: विधु विनोद चोपड़ा की फिल्म ‘शिकारा : द अनटोल्ड स्टोरी ऑफ कश्मीरी पंडित्स’ के खिलाफ जम्मू एवं कश्मीर हाईकोर्ट में एक जनहित याचिका दायर कर इसे रिलीज किए जाने पर रोक लगाने और इसके कुछ दृश्यों को हटवाने की मांग की गई है. इस फिल्म को रिलीज किए जाने की तारीख 7 फरवरी है.Also Read - सुप्रीम कोर्ट ने 89 साल की बुजुर्ग के बच्चों से कहा- आपकी दिलचस्पी मां-बाप की संपत्ति में ज्यादा है; ये त्रासदी है

याचिकाकर्ता इफ्तिखार मिसगर, माजिद हैदरी और इरफान हाफिज लोन ने आरोप लगाया है कि इस फिल्म में कश्मीर और कश्मीरी पंडितों के बारे में गलत तथ्य दर्शाए गए हैं. मिसगर ने एजेंसी से कहा, “हम इसकी रिलीज रोकने और उन दृश्यों को हटवाने के लिए कह रहे हैं, जिनके जरिए घाटी के मुस्लिमों की छवि खराब करने की कोशि की गई है.” Also Read - पुराने वाहनों पर अधिक चार्ज और जुर्माना लगाए जाने पर हाईकोर्ट ने दी बड़ी राहत, केंद्र के अधिसूचना पर लगा दी रोक

Also Read - शाहीन बाग अतिक्रमण मामला: फटकार के बाद CPM ने सुप्रीम कोर्ट से याचिका वापिस ली, SC ने यथास्थिति बनाए रखने की मांग को भी ठुकराया

हाल ही में निर्माताओं ने एक वीडियो शेयर किया था जहां उनके पास सुरक्षा कारणों से श्रीनगर में शूटिंग करने के लिए केवल दो घंटे का वक़्त था और वीडियो में साफ़ देखा जा सकता है कि यह संघर्ष वास्तव में कितना तनावपूर्ण था! “शिकारा” बनाने की झलक शेयर करते हुए निर्माताओं ने अपने सोशल मीडिया पर वीडियो पोस्ट किया और लिखा- हम फ़िल्म की कास्ट और क्रू को कश्मीर के अमीरा कदल जिले में शिकारा की शूटिंग करते हुए देख सकते हैं, जहां सशस्त्र पुलिस की मौजूदगी है और फिल्म की टीम ने तनावपूर्ण माहौल शूटिंग को अंजाम दिया है.