अभिनेता प्रतीक बब्बर ने कहा कि अगर उनकी मां के जीवन पर बायोपिक बनती है तो उन्हें बेहद खुशी होगी और इसका नाम ‘एक थी स्मिता’ होना चाहिए. बब्बर ने बताया , “लोगों ने मेरी मां को लेकर बायोपिक बनाने की बात की है. मैं इससे उत्साहित हूं. उन्होंने अपनी छोटी सी जिंदगी में काफी प्रभावशाली जीवन जिया. यह खास है. उन पर बायोपिक बनती है तो मुझे अच्छा लगेगा. ”स्मिता पाटिल को मराठी और हिंदी सिनेमा की अच्छी अभिनेत्रियों में से एक माना जाता है. पाटिल ने अपने एक दशक के करियर में 80 से ज्यादा फिल्मों में काम किया था.

smita-patil

पाटिल ने राज बब्बर से शादी की थी और उनकी मौत 31 साल की उम्र में 1986 में हो गई. उस समय प्रतीक बब्बर महज दो महीने के थे. अभिनेता ने कहा , “मैं आज भी उन्हें बहुत याद करता हूं. उनकी स्मृति मेरे लिए बहुत प्रेरणादायक रही हैं. मैंने उनकी सारी फिल्में देखी हैं लेकिन सबसे ज्यादा मैंने उन्हें ‘भूमिका’ में पसंद किया है.

#papaji ❤️

A post shared by prateik babbar (@_prat) on

🖤

A post shared by prateik babbar (@_prat) on

बब्बर अभी अपनी आनेवाली फिल्म ‘मुल्क’ के प्रचार में व्यस्त हैं. यह फिल्म तीन अगस्त को रिलीज होगी. गौरतलब है कि ‘मुल्क’ में ऋषि कपूर मुराद अली मोहम्मद के रोल में नजर आएंगे. खबरों की मानें तो ‘मुल्क’ एक सच्ची घटना पर आधारित फिल्म है.

(इनपुट पीटीआई)

बॉलीवुड और मनोरंजन जगत की ताजा ख़बरें जानने के लिए जुड़े रहें  India.com के साथ.