Also Read - UP : Police harassment village upset 3 will vote boycott | उप्र : पुलिस उत्पीड़न से खफा 3 गांव करेंगे मतदान का बहिष्कार

Also Read - Farah Khan: Replacing Salman Khan on 'Bigg Boss' signalled women's empowerment

नई दिल्ली, 1 फरवरी | रेडियो प्रस्तोता प्रीतम सिंह ने 25 लाख रुपये लेकर रियलिटी शो ‘बिग बॉस हल्ला बोल‘ से बाहर निकलने पर कहा कि उनके लिए फाइनल में शो छोड़ना एक बुद्धिमत्ता भरा कदम था, क्योंकि वह अपनी हार को लेकर सुनिश्चित थे। उनके सह-प्रतिभागी गौतम गुलाटी को रविवार को ‘बिग बॉस-8’ का विजेता घोषित किया गया। वहीं करिश्मा तन्ना को उप-विजेता घोषित किया गया। प्रीतम इस प्रतियोगिता में तीसरे स्थान पर रहे।

प्रीतम ने मुंबई से फोन पर आईएएनएस से कहा, “मैं खुद को लेकर अति आत्मविश्वासी नहीं हो सकता। गौतम मुझसे ज्यादा प्रभावशली था, और बाहर उसके अच्छे खासे प्रशंसक हैं। युवा वर्ग उसे समर्थन दे रहा था। इसी वजह से मैं पहले से ही जानता था कि वह विजेता होगा।” उन्होंने कहा, “लेकिन मैं खुश हूं कि शो में मैंने इतना लंबा सफर तय किया। हार या जीत मायने नहीं रखती, क्योंकि यह शो मुझे अपना भविष्य बनाने में मेरी सहायता करेगा।”

‘बिग बॉस’ के घर में अपनी शांत छवि के कारण प्रीतम घर के ज्यादातर पूर्व प्रतिभागियों और जनता के पसंदीदा थे। बाद में पी3जी समूह के साथ जुड़ने के कारण वह प्रचलित रहे। पी3जी में पुनीत इस्सर, प्रणीत भट्ट और गौतम भी शामिल थे।  शो में चार माह तक रहने के अपने अनुभव के बारे में प्रीतम ने कहा, “कुछ प्रतिभागियों का मेरे साथ बुरा अनुभव रहा। लेकिन फिर भी मैं अंतिम तीन में जगह बना पाया और मैं इससे खुश हूं। कार्य के दौरान मैंने अपना थोड़ गुस्सा दिखाया और बाकी के समय मैं शांत रहता था।”

उन्होंने कहा, “शो से मैंने बहुत कुछ सीखा। ‘बिग बॉस’ ने मुझे पहचान दी है।”