Prithviraj Kapoor Birth Anniversary: हिंदी सिनेमा जगत और रंगमंच की दुनिया का एक ऐसा नाम जिसकी पहचान किसी भी हद तक महदूद नहीं हैं. एक ऐसा कलाकार जिसके अभिनय ने फिल्मी दुनिया में एक नया मयार कायम किया. ऐसा कलाकार जिसने बतौर अभिनेता मूक फ़िल्मो से अपना करियर शुरू किया फिर रंगीन फिल्मों तक का सफर तय किया. सिनेमा के इस स्तंभ को दुनिया पृथ्वीराज कपूर (Prithviraj Kapoor) के नाम से जानती हैं. आज इसी दिग्गज अभिनेता का जन्मदिन (Prithviraj Kapoor Birthday) है. 3 नवंबर, 1906 को समुंद्री (अब पाकिस्तान) में जन्मे पृथ्वीराज कपूर को लोगों ने ‘ग्रैंड फादर ऑफ बॉलीवुड’ की उपाधि से भी नवाजा है. Also Read - ऐतिहासिक RK Studio की जमीन पर बनेंगे लग्जरी अपार्टमेंट्स, इस कंपनी की हुई ये धरोहर

पृथ्वीराज कपूर

आज के इस खास मौके पर जानिए पृथ्वीराज कपूर (Prithviraj Kapoor) से जुड़ी कुछ रोचक और अनसुनी बातें: Also Read - Birthday Special: Shashi Kapoor interesting facts | बर्थडे स्पेशल: आज है बॉलीवुड के रोमांटिक हीरो शशि कपूर का जन्मदिन

– पृथ्वीराज ने पेशावर पाकिस्तान के एडवर्ड कालेज से स्नातक की शिक्षा प्राप्त की. उन्होंने एक साल तक कानून की पढ़ाई की जिसके बाद उनका थियेटर की दुनिया में प्रवेश हुआ.

-साल 1929 के सितम्बर को वे फ़िल्मी दुनिया में कदम रखने बम्बई चले आए और आर्देशर ईरानी की इम्पीरियल फिल्म कम्पनी में भर्ती हो गए.

-Challenge नाम की एक मूक फिल्म में पृथ्वीराज कपूरने बिना किसी पारिश्रमिक यानी फीस  लिए काम किया मगर दुसरी फिल्म Cinema Girl के लिए उन्हें 70 रूपये फीस के रूप में मिले थे.

पृथ्वीराज कपूर

-1931 में जब आर्देशन ईरानी ने पहली सवाक फिल्म “आलम आरा” बनाई तो पृथ्वीराज को इसमें खलनायक का रोल मिला.

-पृथ्वीराज कपूर ने सन् 1944 में पृथ्वी थिएटर, हिंदुस्तान का पहला व्यवसायी थिएटर की स्थापना की.

-पृथ्वीराज कपूर की मुग़ले आजम, हरिश्चंद्र तारामती, सिकंदरे आजम, आसमान, महल जैसी कुछ सफल फ़िल्में प्रदर्शित हुईं.

पृथ्वीराज कपूर

-पृथ्वीराज को देश के सर्वोच्च फ़िल्म सम्मान दादा साहब फाल्के के अलावा पद्म भूषण तथा कई अन्य पुरस्कारों से भी नवाजा गया.

-पृथ्वीराजकी अंतिम फ़िल्मों में राज कपूर की आवारा (1951), कल आज और कल, जिसमें कपूर परिवार की तीन पीढ़ियों ने अभिनय किया था.

-29 मई 1971 को पृथ्वी साहब ने इस दुनिया के रंगमंच को हमेशा के लिए अलविदा कह दिया.