नई दिल्लीः मलयाली फिल्म के एक गीत में आंख मारने की वजह से इंटरनेट पर सनसनी बनी अभिनेत्री प्रिया प्रकाश वारियर ने तेलंगाना में अपने खिलाफ दर्ज केस रद्द कराने के लिये सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की. आने वाली फिल्म की इस 18 वर्षीय अभिनेत्री ने राज्यों को उसके खिलाफ किसी भी प्रकार की आपराधिक कार्रवाई नहीं करने का निर्देश देने का भी शीर्ष अदालत से अनुरोध किया है. Also Read - परिवार के 7 सदस्‍यों की हत्‍या की दोषी शबनम को रामपुर से बरेली जेल भेजा, जानिए क्‍यों?

केरल के त्रिशूर में एक कॉलेज की बी.काम की छात्रा ने ओरू अड्डार लव फिल्म के गीत माणिक्य मलारया पूवी के बोल आहत करने वाले या एक समुदाय विशेष की धार्मिक भावनाओं का उल्लंघन करने के आरोप में शिकायत दर्ज कराने के मामले में अपने लिए संरक्षण का अनुरोध भी किया है. Also Read - Corona Vaccination Latest Updates: सुप्रीम कोर्ट के 30 में से 29 जजों को आज लगेगा टीका, नहीं मिलेगा ऑप्शन

याचिका में कहा गया है कि उसके खिलाफ 14 फरवरी को हैदराबाद के फलकनुमा थाने में एक शिकायत पर एफआईआर दर्ज की गई है जिसमे आरोप लगाया गया है कि इस गीत के बोल ने एक समुदाय विशेष की धार्मिक भावनाओं को आहत किया है. उसने कहा है कि उसी दिन मुंबई में रजा अकादमी के सचिव ने याचिकाकर्ताओं के खिलाफ उचित कार्रवाई करने, वीडियो हटाने और इसका प्रसारण रोकने के लिए आपराधिक शिकायत दर्ज कराई गई है.

प्रिया ने कहा है कि कि इस गीत में पैगम्बर मोहम्मद और उनकी पहली बीवी खदीजा के बीच प्रेम की प्रशंसा की गई है. यहां इस तथ्य का भी ध्यान रखना जरूरी है कि यह गीत केरल का एक पुराना मूल लोक गीत है जिसे पीएमए जब्बार ने 1978 में कलमबंद किया था और पहली बार तलासरे रफीक ने पैगंबर और उनकी बीवी खदीजा की प्रशंसा करते हुये गाया था.

इससे पहले केरल के मुख्यमंत्री पी विजयन ने भी फिल्म के टीजर गाने के समर्थन फेसबुक पर पोस्ट किया था. उन्होंने लिखा था कि कला और विचार की स्वतंत्र अभिव्यक्ति के खिलाफ असहिष्णुता को स्वीकार नहीं किया जा सकता. सीएम ने कहा था कि इस तरह की असहिष्णुता को स्वीकार नहीं किया जा सकता. सीएम ने अपने फेसबुक पोस्ट में लिखा था कि इस मामले में अगर किसी को शक है कि हिन्दू और मुस्लिम कट्टरपंथियों ने हाथ मिला लिया है तो उन्हें दोष नहीं दिया जा सकता.

(इनपुट भाषा)